नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने आतंकियों को कथित वित्तीय मदद पहुंचाने के एक दशक पुराने धन शोधन मामले में कश्मीरी अलगाववादी नेता शब्बीर शाह से पूछताछ करने के लिए बुधवार को प्रवर्तन निदेशलय (ईडी) को एक दिन का समय और दे दिया। ईडी ने अदालत से शाह की सात दिन की हिरासत और मांगी, लेकिन अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश राकेश पंडित इस आग्रह से सहमत नहीं हुए। एजेंसी ने कहा कि उसे ब़डी साजिश के खुलासे के लिए शाह की सात दिन की हिरासत और चाहिए। शाह के वकील एमएस खान ने ईडी के आग्रह का विरोध किया। अलगाववादी नेता को उसकी सात दिन की हिरासत खत्म होने के बाद अदालत में पेश किया गया। उसे २५ जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। एजेंसी ने पूर्व में शाह को वर्ष २००५ के उस मामले के संबंध में सम्मन जारी किया था जिसमें दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने कथित हवाला डीलर मोहम्मद असलम वानी को गिरफ्तार किया था। अभियोजन के अनुसार वानी ने दावा किया था कि उसने शाह को २.२५ करो़ड रुपए दिए थे। प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन राकेथाम कानून के तहत शाह और वानी के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसने कहा था कि वानी को काफी मात्रा में गोला-बारूद और ६३ लाख रुपए के साथ गिरफ्तार किया गया था जो उसे २६ अगस्त २००५ को कथित तौर पर पश्चिम एशिया से हवाला माध्यमों से मिला था।