मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आईडीबीआई-केएफए बैंक कर्ज मामले में धन शोधन की जांच के संबंध में शराब कारोबारी विजय माल्या और अन्यों के खिलाफ आज पहला आरोप पत्र दायर किया। यहां एक विशेष धन शोधन निरोधक अदालत में धन शोधन निरोधक अधिनियम पीएमएलए की विभिन्न धाराओं के तहत भारी भरकम अनुबंधों के साथ ५७ पृष्ठों का आरोप पत्र या अभियोजन पक्ष की शिकायत दायर की गई। प्रवर्तन निदेशालय ने इस सौदे में गत वर्ष पीएमएलए के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया था और उसने अभी तक ९,६०० करो़ड रुपए तक की संपत्ति जब्त की है।अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने आरोप पत्र में इस बारे में विस्तार से बताया है कि कैसे नियमों का कथित उल्लंघन करते हुए करीब ४०० करो़ड रुपए की निधि विदेश भेजी गई। उसने इस सौदे में केएफए और आईडीबीआई के अन्य अधिकारियों तथा कार्यकारियों की भूमिका का भी जिक्र किया है।