डीआरडीओ द्वारा विकसित यह मिसाइल जमीन से हवा में 20 से 30 किलोमीटर तक अपने लक्ष्य का पीछा करने और उसे भेद सकने में सक्षम है। यह एक साथ कई लक्ष्यों को भेदने में भी सक्षम है। यह तेजी से प्रतिक्रिया करने वाली मिसाइल है और हर तरह के मौसम में इस्तेमाल की जा सकती है।

बालेश्वर (ओडिशा)। त्वरित प्रतिक्रिया के साथ सतह से हवा में मार करने वाली स्वदेश निर्मित (क्यूआरएसएएम) कम दूरी की मिसाइल का सोमवार को ओडिशा के समुद्र तट के पास एक परीक्षण रेंज से सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया जिसमें एक साथ कई लक्ष्यों पर निशाना साधने की क्षमता है। मिसाइल में २५ से ३० किलोमीटर की दूरी तक प्रहार करने की क्षमता है और इसे त्वरित प्रतिक्रिया वाली मिसाइल के रूप में तैयार किया गया है। इसमें हर मौसम में काम करने वाली शस्त्र प्रणाली है जिसमें लक्ष्य को पहचानने और उस पर निशाना साधने की क्षमता होती है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के सूत्रों ने बताया कि चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) में स्थित प्रक्षेपण परिसर-३ से एक ट्रक पर लगे कैनिस्टर के लांचर से सुबह करीब ११:३० बजे मिसाइल का परीक्षण-प्रक्षेपण किया गया। उन्होंने कहा कि इस अत्याधुनिक मिसाइल में लगी सभी प्रौद्योगिकियों और उप प्रणालियों ने अच्छा प्रदर्शन किया और मिशन की सभी जरूरतों को पूरा किया। सूत्रों के अनुसार सभी रडारों, इलेक्ट्रो ऑप्टिकल प्रणाली, टेलीमेट्री प्रणालियों और अन्य स्टेशनों ने मिसाइल पर निगरानी रखी और सभी मानदंडों पर नजर रखी। परीक्षण के सभी उद्देश्यों की पूर्ति हुई।