गोरखपुर। उप्र के मुख्यमंत्री के गृह जिले में अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से बीते ४८ घंटों में ३० बच्चों की मौत हो गई है। मरने वाले बच्चे एनएनयू वार्ड और इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती थे। इन बच्चों की मौत की वजह दरअसल अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होना बताया जा रहा है। हालांकि मृतक बच्चों की संख्या की अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। इस संबंध में बीआरडी अस्पताल के डीएम राजीव रौतेला ने बताया कि शुक्रवार को ७ बच्चों की मौत हुई है। उनका कहना है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है इन बच्चों की मौत बीमारी की वजह से हुई है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली एक कंपनी का ६८ लाख रुपए का भुगतान नहीं किया गया है इस कारण से उसने बीआरडी अस्पताल को ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर दी थी।