चेन्नई। नीट आधारित चिकित्सा परीक्षा के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रूख करने वाली १७ वर्षीय राज्य बोर्ड की टॉपर अनीता की आत्महत्या पर राजनीतिक दलों और तमिल समर्थक संगठनों ने शनिवार को राज्यव्यापी प्रदर्शन किया। उन्होंने तुरंत प्रवेश परीक्षा नीट को वापस लिए जाने की मांग की। माकपा और उसके छात्र एवं युवा संगठन, एसएफआई और डीवाईएफआई ने दलित ल़डकी की खुदकुशी पर स़डक पर यातायात रोक दिया। पार्टी की राज्य इकाई के सचिव जी रामकृष्णन और कई अन्य को हिरासत में ले लिया गया। इसी तरह यहां किलपॉक में रास्ता रोकने पर वीसीके पार्टी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। एक छात्र संगठन ने ओमांतुरर इस्टेट में सरकारी मल्टी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की मुख्य स़डक को बंद करने की कोशिश की और उनके सदस्यों को हिरासत में लिया गया । प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) के मुद्दे पर केंद्र और राज्य सरकारों के खिलाफ नारेबाजी की ।