अगरतला। त्रिपुरा में पिछले २४ घंटों से जारी तेज बारिश के कारण नादियां पूरे ऊफान पर है और इसकी वजह से राजधानी अगरतला के २५०० लोगों समेत विभिन्न हिस्सों में १२ हजार से अधिक लोग बेघर हो गए हैं। राज्य की अधिकतर नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और शहरी क्षेत्रों में हुई भीषण बारिश ने निचले क्षेत्रों में बा़ढ जैसे हालात पैदा कर दिए हैं जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग ४४ तथा अन्य मार्गों पर यातायात जाम की स्थिति पैदा हो गई है। एक रिपोर्ट के अनुसार पश्चिमी त्रिपुरा के सिपाहीजाला जिले में रूथखोला में बिजाय नदी में एक ६५ वर्षीय महिला की बहने से मौत हो गई।

पश्चिम बंगाल के कई जिलों में भारी बारिश और बिजली गिरने की घटना में कम से कम नौ लोगों की मौत हुई है। सूत्रों ने मंगलवार को यहां बताया कि सोमवार शाम से जिन नौ लोगों की मौत हुई है उनमें से आठ लोगों की बिजली गिरने की घटना में और एक की भारी वर्षा के बाद जलमग्न हुए तालाब में डूबने से मौत हुई। हुगली में पांच, पूर्वी वर्द्धमान में दो और उत्तरी २४ परगना में एक व्यक्ति की बिजली गिरने से मौत हुई जबकि बांकु़डा में एक व्यक्ति की तालाब में गिरने के बाद मौत हुई।