पाकिस्तानी फायरिंग में सेना के दो जवान शहीद

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में एलओसी के पास पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में बुधवार को सेना के दो जवान शहीद हो गए हैं। पाकिस्तानी सैनिकों ने बिना बुधवार को अचानक भारतीय सेना की चौकियों को निशाना बनाना शुरु कर दिया। दोपहर 2 बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी सेना ने केवल छोटे हथियारों से फायरिंग की गई, बल्कि मोर्टार के गोले भी दागे गए। बताया जा रहा है कि यह गोलाबारी सीमा पार से भारतीय सैनिकों को निशाना बनाकर की गई थी। सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की है। अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना को कितना नुकसान पहुंचा है.
बुधवार को ही मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को मार गिराया गया। सुरक्षाबलों ने बडगाम के रेडबग इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बारे में सटीक खुफिया जानकारी मिलने के बाद मंगलवार शाम आतंकियों की खोज के लिए अभियान शुरू किया था। खोज अभियान के दौरान कुछ सैनिकों ने गोलीबाड़ी शुरु की लेकिन सुबह तक सेना के जवानों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया।
उल्लेखनीय है कि जम्मू के पुंछ सेक्टर के बालाकोट इलाके में भी पाकिस्तान की ओर से फायरिंग हुई है। इसी वजह से पुंछ के चक्कां दा बाग से होने वाले व्यापार को भी स्थगित कर दिया गया है। गत शनिवार को पुंछ में पाकिस्तानी गोलाबारी में एक भारतीय दंपति की मौत हो गई थी और दो बच्चे घायल हो गए थे।
खोज अभियान के दौरान उस समय मुठभेड़ शुरू हो गई, जब आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी. रात में अभियान को रोक दिया गया था, लेकिन सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों को भागने से रोकने के लिए इलाके की घेराबंदी बनाए रखी. सुबह फिर से मुठभेड़ शुरू हो गई. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि मुठभेड़ में सुबह तीन आतंकवादी मारे गए और घटनास्थल से कुछ हथियार तथा गोला बारूद बरामद किए गए हैं.