बालेश्वर (ओडिशा)। भारत ने देश में निर्मित एवं परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम पृथ्वी २ मिसाइल का ओडिशा में एक परीक्षण रेंज से शुक्रवार को सफल प्रायोगिक परीक्षण किया। सेना ने इस्तेमाल के दौरान इसका परीक्षण किया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करने में सक्षम और ३५० किलोमीटर की मारक क्षमता वाली इस मिसाइल का परीक्षण सुबह करीब नौ बजकर ५० मिनट पर यहां निकट स्थित चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के परिसर तीन से मोबाइल लॉन्चर के माध्यम से किया गया। उन्होंने कहा कि इस अत्याधुनिक मिसाइल का परीक्षण सफल रहा और मिशन के लक्ष्य पूरे हुए। पृथ्वी-२ मिसाइल ५०० किलोग्राम से १००० किलोग्राम वजनी आयुद्य ले जाने में सक्षम है और यह दो तरल प्रणोदन इंजनों से संचालित होती है। यह अपने लक्ष्य को सटीकता से निशाना बनाने के लिए अत्याधुनिक प्रणाली का इस्तेमाल करती है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक वैज्ञानिक ने कहा कि इस अत्याधुनिक मिसाइल को परीक्षण के लिए उत्पादन भंडार से चुना गया और यह परीक्षण गतिविधियां विशेष रूप से गठित सामरिक बल कमान (एसएफसी) ने कीं और डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने इस पर नजर रखी।