पटना। बिहार मेंे चार वर्षों के अंतराल के बाद एक बार फिर से भाजपा गठबंधन की सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया है। बुधवार की रात नौ बजे भारतीय जनता पार्टी ने नीतीश कुुमार का समर्थन करने का एलान कर दिया। सुशील मोदी ने पटना में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व ने यह निर्णय लिया है कि जनता दल यू(जेडीयू) को समर्थन देंगे। सूत्रों के अनुसार सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार होंगे और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी होंगे। सूत्रों के अनुसार दोनों पार्टियों के तेरह-तेरह नेता मंत्री बन सकते हैं।
नीतीश कुमार को बुधवार देर रात राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के विधायक दल का नेता चुना गया और उसके बाद रात बारह बजे नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी, ललन सिंह, जीतन राम मांझी और भाजपा के साथ ही अपनी पार्टी केंनेताओं के साथ राजभवन सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए पहुंचे। यहां तक बात तय हो चुकी है कि नीतीश कुमार का शपथ ग्रहण समारोह आज सुबह 10 बजे हो सकता है।
गौरतलब है कि राज्य में सरकार बनाने के लिए जादुई आंकड़ा 122 है और भाजपा और इसके घटक दलों के समर्थन के बाद नीतीश कुमार के पास लगभग 129 विधायकों का समर्थन मिल जाएगा। हालांकि देर रात इस प्रकार की खबरें भी आई कि लालू यादव ने राज्यपाल केशरानाथ त्रिपाठी से यह कहते हुए सरकार बनाने के लिए समय देने की मांग की कि उनकी पार्टी राज्य की सबसे बड़ी निर्वाचित पार्टी है। हालांकि लालू को बुधवार की रात ही रांची के लिए रवाना हो गए क्योंकि उन्हें कोर्ट में पेश होना था।