नई दिल्ली/भाषाकेन्द्रीय मंत्री एम जे अकबर ने हाल ही में उन पर यौन उत्पी़डन के आरोप लगाने वाली पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ सोमवार को पटियाला हाउस अदालत में एक निजी आपराधिक मानहानि शिकायत दायर की। विदेश राज्यमंत्री अकबर ने रमानी पर जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण तरीके से उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया और इसके लिए पत्रकार के खिलाफ मानहानि से जु़डे दंडात्मक प्रावधान के तहत मुकदमा चलाने का अनुरोध किया।दुनिया भर में यौन शोषण के खिलाफ शुरू हुए मी टू अभियान ने हाल ही में भारत में जोर पक़डा है और एक के बाद एक कई क्षेत्रों से जु़डे लोगों के खिलाफ कथित यौन शोषण के मामले सामने आए हैं। शिकायत में कहा गया, शिकायतकर्ता (अकबर) का पत्रकारिता में लंबा करियर रहा है, उन्होंने भारत की पहली साप्ताहिक राजनीतिक समाचार पत्रिका शुरू की थी… शिकायत में रमानी द्वारा सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ लगाए गए मानहानिपूर्ण आरोपों का उल्लेख किया गया है। अकबर ने अपनी शिकायत में कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि आरोपी (रमानी) ने द्वेषपूर्ण तरीके से कई गंभीर आरोप लगाए हैं जिसे वह मीडिया में बेरहमी के साथ फैला रही है। शिकायत में कहा गया है कि यह भी स्पष्ट है कि शिकायतकर्ता (अकबर) के खिलाफ झूठी बातें किसी एजेंडे को पूरा करने के लिए प्रायोजित तरीके से फैलाई जा रही हैं। इसमें अकबर के खिलाफ रमानी के आरोपों को बदनाम करने वाला बताया गया। इसमें कहा गया कि आरोपों की भाषा और सुर पहली नजर में ही मानहानिपूर्ण हैं और इन्होंने न केवल उनके (अकबर) सामाजिक संबंधों में उनकी प्रतिष्ठा और साख को नुकसान पहुंचाया है बल्कि समाज, मित्रों और सहयोगियों के बीच अकबर की प्रतिष्ठा भी प्रभावित हुई है।