logo
अफगानिस्तान: नमाज के दौरान मस्जिद में धमाका, 3 की मौत, 15 घायल
ये पंक्तियां लिखे जाने तक किसी भी संगठन ने धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली थी
 
यह इलाका आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की गतिविधियों का केंद्र बना हुआ है

काबुल/दक्षिण भारत। अफगानिस्तान के अशांत नंगरहार प्रांत की एक मस्जिद में शुक्रवार को हुए धमाके में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और 15 घायल हो गए। यह इलाका आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की गतिविधियों का केंद्र बना हुआ है।

ये पंक्तियां लिखे जाने तक किसी भी संगठन ने धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली थी। अमेरिकी नेतृत्व वाली सेनाओं के अफगानिस्तान छोड़कर जाने के बाद इस देश पर तालिबान ने कब्जा कर लिया लेकिन हालात हर दिन खराब होते जा रहे हैं। 

यहां कई धमाके हो चुके हैं जिनमें खासतौर से शिया मुसलमानों की मस्जिदों को निशाना बनाया गया है। संयुक्त राष्ट्र भी चेतावनी दे चुका है कि अफगानिस्तान दुनिया के सबसे खराब मानवीय संकट के कगार पर है।

उक्त धमाका पाकिस्तान के साथ लगती सीमा के पास पूर्वी प्रांत के जिले में जुमे की नमाज के दौरान हुआ। इस संबंध में जानकारी देते हुए एक अधिकारी ने पुष्टि की है कि स्पिन ग़ार जिले की एक मस्जिद में जुमे की नमाज के दौरान धमाका हुआ है। इसमें लोगों की जानें गई हैं और कई घायल हुए हैं।

एक स्थानीय कार्यकर्ता ने बताया कि धमाका सुनकर ऐसा लगा कि इमाम के मंच के पास लाउडस्पीकर में बम छिपाया गया था। जब स्पीकर चालू किया गया, तो धमाका हो गया।

वहीं स्थानीय अस्पताल के डॉक्टर ने पुष्टि की है कि अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 15 घायल हैं।

बता दें कि यहां आईएस-खोरासन के आतंकवादी पहले भी बम धमाके करते रहे हैं। यह संगठन अफगानिस्तान में अपेक्षाकृत छोटा है लेकिन कई इलाकों में प्रभाव रखता है। इसने हाल के वर्षों में अफगानिस्तान में कुछ सबसे ज्यादा घातक हमलों की जिम्मेदारी ली है। इसके आतंकवादियों ने मस्जिदों, तीर्थस्थलों, सार्वजनिक स्थानों और यहां तक ​​कि अस्पतालों में धमाके कर नागरिकों की हत्या की है।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए