logo
काबुल: आपस में ही लड़ रहे आतंकी, मस्जिद के बाहर विस्फोट के बाद तालिबान का आईएस पर हमला

तालिबान के अधिकारी, संगठन के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद की मां की मौत के बाद शोक जताने मस्जिद में जमा हुए थे

 
इससे पहले 26 अगस्त को भयावह हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट समूह ने ली थी जिसमें काबुल हवाईअड्डे के बाहर 169 से अधिक अफगान लोग और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए थे।

काबुल/एपी। तालिबान ने सोमवार को कहा कि काबुल में एक मस्जिद के बाहर घातक विस्फोट के कुछ घंटे बाद उसके बलों ने अफगानिस्तान की राजधानी में इस्लामिक स्टेट के ठिकाने पर हमला किया और कई आतंकवादियों को ढेर कर दिया।

ईदगाह मस्जिद के बाहर रविवार को हुए विस्फोट में पांच नागरिक मारे गए। किसी ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली लेकिन हमले के फौरन बाद संदेह इस्लामिक स्टेट समूह पर गया जिसने अगस्त के मध्य में काबुल में तालिबान के कब्जे के बाद से उसके खिलाफ हमले तेज कर दिये हैं।

तालिबान के अधिकारी, संगठन के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद की मां की मौत के बाद शोक जताने मस्जिद में जमा हुए थे।

मुजाहिद ने सोमवार को एक बयान में कहा कि तालिबान के बलों ने काबुल के उत्तर में खैर खाना में इस्लामिक स्टेट के एक केंद्र पर धावा बोला। हालांकि उसने यह नहीं बताया कि कितने आईएस आतंकी मारे गये और क्या कोई तालिबान लड़ाका भी इस दौरान घायल हुआ।

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से रविवार के विस्फोट हमले सबसे खतरनाक थे। इससे पहले 26 अगस्त को भयावह हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट समूह ने ली थी जिसमें काबुल हवाईअड्डे के बाहर 169 से अधिक अफगान लोग और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए थे।