नई दिल्ली।देश के युवा वर्ग में उद्यमिता को प्रोत्साहित करने और नई सोच के तहत काम के प्रयासों को ब़ढावा देने के लिए गेल (इंडिया) ङ्घलिमिटेड के अध्यक्ष बीसी त्रिपाठी ने मंगलवार को एक खास पहल की है। इस पहल को ’’पंख’’ का नाम दिया गया है। इसके तहत उन औद्योगिक इकाइयों की पहचान की जाएगी, जिन्होंने अपने क्षेत्र के काम-काज में नवाचार को अपनाया है। पंख की शुरुआत के मौके पर आज आयोजित एक कार्यक्रम में गेल के वित्त निदेशक सुबीर पुरकायस्थ, मानव संसाधन निदेशक पीके गुप्ता, विपणनङ्घ निदेशक गजेंद्र सिंह और कंपनी के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। जानकारी के मुताबिक, देश में नवाचार की संस्कृति को ब़ढावा देने के लिए गेल ने ५० करो़ड रुपए की निधि बनाई है। यह राशि स्टार्ट अप कंपनियों में निवेश की जाएगी, ताकि यह कंपनियां अपने काम को विस्तार दे सकें्। गेल की तरफ से इन कंपनियों को उनके क्षेत्र में तेजी से और लगातार आगे ब़ढने के लिए आवश्यक मार्गदर्शन भी दिया जाएगा। खास तौर पर प्राकृतिक गैस और इसके विभिन्न उत्पादों के क्षेत्र में काम करनेवाली स्टार्ट अप कंपनियों में निवेश की योजना बनाई गई है। इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए त्रिपाठी ने कहा कि इस पहल का फायदा देश की स्टार्ट अप कंपनियों को मिलेगा और वह अपनी पूरी संभावना का तेजी से दोहन भी कर सकेंगी। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इस स्टार्ट अप पहल को देश की अर्थचक्र से जो़डकर देखने की जरूरत है। चूंकि आज देश में नवाचार की सबसे अधिक जरूरत है, इसलिङ्घए गेल ने कारोबारी दुनिया में नई सोच की पहचान करने का प्रयास किया है। त्रिपाठी ने इस मौके पर एक स्टार्ट अप वेब पोर्टल भी लांच किया, जिसके माध्यम से पंख कार्यक्रम का लाभ उठाने की इच्छा रखने वाली स्टार्टअप कंपनियां गेल को अपना आवेदन ऑनलाइन भेज सकेंगी। इस पोर्टल पर १६ अगस्त तक स्टार्टअप कंपनियां अपना आवेदन भेज सकेंगी।वहीं, गेल के वरिष्ठ अधिकारियों को संबोधित करते हुए त्रिपाठी ने कहा कि पंख के लिए बनाई गई निधि एक छोटा सा शुरुआती कदम है और जरूरत के अनुसार इन फंड में आवश्यक ब़ढोत्तरी की जा सकती है। इससे पूर्व कंपनी की इस खास पहल को स्टार्टअप कंपनियों से मिलने वाली प्रतिक्रिया पर ध्यान देना जरूरी है।