डिजिटल पेमेंट
डिजिटल पेमेंट

मुंबई/भाषा। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को सभी से लेनदेन में डिजिटल तौर तरीकों को बढ़ावा दिए जाने पर जोर दिया। उनकी यह टिप्पणी कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए किए जा रहे उपायों के लिहाज से काफी अहम है।

वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संकट से जूझ रही है। दुनियाभर में इससे मरने वालों का आंकड़ा 24,000 के पार पहुंच चुका है। इतना ही नहीं देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 17 हो चुकी जबकि संक्रमित लोगों की संख्या 700 का आंकड़ा पार कर चुकी है।

रिजर्व बैंक की ओर से व्यवस्था में नकदी बनाए रखने के लिए रेपो, सीआरआर में कटौती सहित कई उपायों की घोषणा के दौरान दास ने कहा, ‘कोरोना वायरस का संकट हमारे सामने है, लेकिन यह भी बीत जाएगा। हमें सावधानी बरतने की जरूरत है और सभी एहतियाती कदम उठाने हैं। मैं यह आपकी समझ पर छोड़ता हूं। साफ रहिए, सुरक्षित रहिए और डिजिटल अपनाइए।’

उन्होंने कहा कि इस चुनौतीपूर्ण समय में भी वह आशावान बने हुए हैं। रिजर्व बैंक ने रेपो दर में 0.75 प्रतिशत की कटौती कर उसे 4.4 प्रतिशत कर दिया है। वहीं बैंकों के नकद आरक्षित अनुपात (सीआरआर) में एक प्रतिशत की कटौती की गई है। इससे बैंकों के पास ऋण देने के लिए 3.74 लाख करोड़ रुपए की अतिरिक्त नकदी उपलब्ध होगी।