भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल
भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल

नई दिल्ली/भाषा। भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ने कहा है कि भारत आगामी वर्षों में 5जी मानदंड और पारिस्थितिकी तंत्र में वैश्विक निवेश का पूरा लाभ उठाने की स्थिति में होगा। मित्तल ने मंगलवार को इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी)-2020 को संबोधित करते हुए कहा कि उपकरणों के दाम नीचे आ रहे हैं और ये आसानी से उपलब्ध हैं, जिसकी वजह से भारत 5जी का पूरा लाभ उठा पाएगा।

मित्तल ने कहा कि अंतरिक्ष संचार का अगला मोर्चा होगा। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष उद्योग में भारत की अग्रणी स्थिति तथा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के निजी क्षेत्र को जोड़ने के आह्वान से यह सुनिश्चित होगा कि भारत अंतरिक्ष संचार उद्योग में लाभ की स्थिति में होगा।

इस साल इंडिया मोबाइल कांग्रेस का आयोजन वर्चुअल तरीके से किया गया है। मित्तल ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से विभिन्न उत्पादों और सेवाओं की डिजिटल स्वीकार्यता बढ़ी है। महामारी की वजह से देश में डिजिटलीकरण की रफ्तार तेज हुई है।

उन्होंने कहा कि अगले दो-तीन साल में अगली पीढ़ी की 5जी सेवाएं मोबाइल ब्रॉडबैंड क्षेत्र की अगुवाई करेंगी। उन्होंने कहा, ‘अब जबकि दुनिया 5जी के लिए तैयार हो रही है, उपकरणों के दाम नीचे आने लगे हैं। अब उपकरण पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। मुझे लगता है कि भारत दो-तीन साल में वैश्विक स्तर पर 5जी मानकों तथा पारिस्थितिकी तंत्र में हुए निवेश का लाभ उठाने की स्थिति में होगा।’

मित्तल ने कहा कि वह भारती एंटरप्राइजेज के अंतरिक्ष क्षेत्र में प्रवेश को लेकर काफी उत्साहित हैं। ‘यह संचार का अगला र्मोचा होगा।’