सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली/भाषा। भारत में कोरोना वायरस के कारण लगाए लॉकडाउन के खत्म होने और वाणिज्यिक यात्री विमानों के फिर से उड़ान भरने के बाद इंडिगो बार-बार अपने विमानों की अच्छे तरीके से सफाई करेगी, कुछ वक्त के लिए विमान में भोजन परोसना बंद करेगी और हवाईअड्डे पर चलने वाली बसों में अधिकतम 50 फीसदी सीटें ही भरेगी।

एयरलाइन के सीईओ रोनजॉय दत्ता ने कहा, ‘इन जैसी परिस्थितियों में कंपनियां वृद्धि या लाभ का प्रबंधन नहीं करती बल्कि नकदी के प्रवाह का प्रबंधन करती है। इसका मतलब है कि हमारा एकमात्र ध्यान नकदी के प्रवाह पर है। हम अपनी सभी निर्धारित लागतों का अध्ययन कर रहे हैं और उन्हें कम करने के रास्ते तलाश रहे हैं।’’

दत्ता ने कहा कि लॉकडाउन के बाद इंडिगो की योजना सबसे पहले सेवाओं को शुरू करना तथा धीरे-धीरे क्षमता बढ़ाना होगा। दत्ता ने शुक्रवार को कर्मचारियों को किए ईमेल में कहा, ‘हम हमेशा से सुरक्षा का अधिक ख्याल रखते हैं और अब हमें स्वास्थ्य का ध्यान भी रखना होगा। इसे ध्यान में रखते हुए हम अपनी कई संचालनात्मक प्रक्रियाओं को बदलने पर विचार कर रहे हैं। नयी प्रक्रियाएं अभी तय नहीं हुई हैं।’

इसमें कहा गया है, ‘लेकिन हम अपने विमानों को पहले के मुकाबले कई बार अच्छे तरीके से साफ करेंगे, हम कुछ समय के लिए विमान में भोजन परोसने की सेवा बंद करेंगे और हम अपने कोच को 50 प्रतिशत तक ही भरेंगे। हम जल्द ही नयी प्रक्रियाएं लेकर आएंगे।’

भारत ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी पर लगाम लगाने के लिए 21 दिन का लॉकडाउन लागू कर रखा है। इसके साथ ही सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को इस अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया है। हालांकि, भारतीय विमानन नियामक डीजीसीए ने बंद के दौरान मालवाहक विमानों, तट पर हेलीकॉप्टर अभियानों, इलाज मुहैया कराने के लिए आवश्यक विमानों और विशेष उड़ानों को अनुमति दे रखी है।