पेटीएम
पेटीएम

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रमुख वित्तीय सेवा मंच पेटीएम ने दुकानदारों को तोहफा दिया है। उसने घोषणा की है कि सभी मर्चेंट पार्टनर्स पेटीएम वॉलेट, सभी यूपीआई आधारित पेमेंट एप्स और रुपे कार्ड्स के जरिए अपने बैंक खाते में शून्य शुल्क पर भुगतान स्वीकार करने के लिए पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर का उपयोग कर सकते हैं। कंपनी ने यह घोषणा ऐसे समय में की है जब कोरोना महामारी के कारण कारोबार में काफी दिक्कतें आ रही हैं।

कंपनी ने कहा है कि उसने कोरोना महामारी के दौरान 100 करोड़ रुपए अलग से रखे हैं। इस रकम का निवेश वित्तीय सेवाओं और मार्केटिंग के विभिन्न टूल्स की सुलभता के लिए किया जाएगा। इसका फायदा उपयोगकर्ताओं को मिलेगा और मर्चेंट पार्टनर्स पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर के माध्यम से डिजिटल भुगतान में बढ़ोतरी को गति देने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा।

पेटीएम ने बताया कि एमडीआर शुल्क का भार वह खुद वहन करेगी, जिसे बैंकों द्वारा वसूला जाता है और लॉयल्टी स्कीम बंद कर देगी। इस संबंध में पेटीएम के प्रवक्ता ने कहा, ‘हमारा लक्ष्य देश के लाखों छोटे व्यवसायों को अतिरिक्त शुल्क की चिंता किए बिना सभी स्रोतों से डिजिटल भुगतान स्वीकार करने में सहयोग देना है।’

उन्होंने व्यापारियों को होने वाले फायदों को रेखांकित करते हुए कहा, ‘हम बैंकों द्वारा लिए जाने वाले शुल्क का भार खुद वहन करेंगे और व्यापारियों को शून्य शुल्क पर भुगतान स्वीकार करने के लिए सक्षम बनाएंगे।’ प्रवक्ता ने बताया,  ‘हम उनके व्यवसाय के लिए भी कई लाभों की पेशकश करना जारी रखेंगे, जिनमें विभिन्न वित्तीय एवं व्यावसायिक सेवाएं शामिल हैं, जिनका उपयोग वे हमारे मंच पर करते हैं।’

कंपनी ने कहा कि इस साल की शुरुआत में लॉन्च किया गया पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर एकमात्र निशुल्क क्यूआर है, जो पेटीएम वॉलेट, सभी यूपीआई एप्स और रुपे कार्ड्स से भुगतान की अनुमति देता है। मर्चेंट पेटीएम फॉर बिजनेस एप को डाउनलोड कर इस क्यूआर की खूबियों – प्रत्यक्ष बैंक निपटान, एकल समाधान और ऋण, बीमा जैसे विविध कार्यों के लिए अनुरोध का प्रयोग कर सकते हैं। बता दें कि पेटीएम की इस पहल की सोशल मीडिया पर काफी चर्चा है।