प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली/भाषा। देश के निर्यात कारोबार में सुधार आने के संकेत दिखने लगे हैं। नवंबर के पहले सप्ताह में 6.75 अरब डॉलर का निर्यात किया गया जो कि सालाना आधार पर 22.47 प्रतिशत वृद्धि को दर्शाता है। इसमें औषधि, रत्न एवं आभूषण और इंजीनियरिंग क्षेत्र का मजबूत योगदान रहा। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह कहा।

एक साल पहले नवंबर के पहले सप्ताह में 5.51 अरब डॉलर का निर्यात किया गया था। इस लिहाज से इस साल नवंबर में इसमें 1.25 अरब डॉलर की वृद्धि दर्ज की गई है। प्रतिशत में यह आंकड़ा 22.47 प्रतिशत रहा है।

अधिकारी ने बताया कि 1 से 7 नवंबर 2020 के दौरान आयात 13.64 प्रतिशत बढ़कर 9.30 अरब डॉलर रहा जो कि एक साल पहले इसी अवधि में 8.19 अरब डॉलर रहा था। आयात में पेट्रोलियम को छोड़कर अन्य सामानों का आयात 23.37 प्रतिशत बढ़ा है। व्यापार घाटे की यदि बात की जाए तो यह 2.55 अरब डॉलर रहा है।

औषधि, रत्न एवं आभूषणों का निर्यात आलोच्य अवधि में क्रमश: 32 प्रतिशत बढ़कर 13.91 करोड़ डॉलर, 88.8 प्रतिशत बढ़कर 336.07 करोड़ डॉलर पर रहा। इसी प्रकार इंजीनियरिंग सामानों का निर्यात 16.7 प्रतिशत बढ़कर 21.51 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया।

इस दौरान अमेरिका, हांग कांग और सिंगापुर को निर्यात में क्रमश: 54 प्रतिशत, 176 प्रतिशत और 91 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। नवंबर पहले सप्ताह में जिन क्षेत्रों के निर्यात कारोबार में गिरावट रही उनमें पेट्रोलियम, समुद्री उत्पाद और चमड़े का सामान प्रमुख रहे। देश के निर्यात कारोबार में सितंबर में भी वृद्धि दर्ज की गई थी लेकिन अक्टूबर में इसमें फिर गिरावट आ गई थी।