‘भिक्षु बाबा’ की तपस्या से ही आज तेरापंथ गुलजार : हीरालाल मालू

तेरस की है रात, बाबा आज थाने आणो है..

678
भिक्षु धाम में आयोजित धम्म जागरण में प्रस्तुुति देते हुए नीलेश बाफना

बेंगलूरु। यहां टुमकूर रो़ड स्थित भिक्षु धाम में आचार्यश्री भिक्षुजी के २१५वें चरमोत्सव की पूर्व संध्या पर विराट धम्म जागरण का आयोजन हुआ। जय तुलसी फाउण्डेशन के मुख्य न्यासी हीरालाल-शायर मालू परिवार के मुख्य प्रायोजन में आयोजित इस कार्यक्रम में सूरत के मशहूर युवा भजन गायक नीलेश बाफना ने एक से बढकर एक प्रस्तुतियों से भिक्षुभक्तों को भावविभोर कर झूमने पर मजबूर किया। संघीय गायक कलाकार ने विघ्न हरण मंगल करण स्वामी भिक्षु रो नाम..स्तुति से शुरु किए भजनों की श्रृंखला में बुलावो आयो राम को.., स्वामीजी म्हाने दर्शन दीना जी.., भिक्षु भिक्षु म्हारी आत्मा पुकारे.., तेरापंथ रो भाग्य विधाता.., तेरस की है रात.., स्वामीजी झणन-झणन.., कल्पतरु रा बीज फल्या.. सहित अनेक प्रस्तुतियां दीं।

भिक्षु धाम में आयोजित धम्म जागरण में प्रस्तुुति देते हुए नीलेश बाफना

इससे पूर्व सभी का स्वागत भिक्षु धाम ट्रस्ट के अध्यक्ष धर्मीचंद धोका ने किया। उन्होंने धाम में गतिमान निर्माण कार्यों व सहयोगीजनों का जिक्र करते हुए अपनी बात कही। देवीलाल पितलिया, कन्या मण्डल, महिला मण्डल सहित अनेक जनों ने मंगलाचरण व भक्तिमयी प्रस्तुतियां दी। इस मौके पर अपने संक्षिप्त वक्तव्य में मुख्य अतिथि हीरालाल मालू ने कहा कि ट्रस्ट ने इस विराट धम्म जागरण का सौजन्य हमारे परिवार को देकर हमें उपकृत किया है। उन्होंने कहा कि ‘भिक्षुबाबा’’ की तपस्या से ही तेरापंथ शासन आज गुलजार बन गया है। मालू ने कहा कि दृढता की कसौटी पर सिद्धांतों का सहारा लेने वाले भिक्षु बाबा को तीक्ष्ण प्रतिभा का धनी कहा जाता है। वे हम सभी के लिए क्रांतिदूत बनकर आए। आचार्यश्री भिक्षु स्वामी एवं पुनवानी के कार्यों से जु़डे एक चमत्कारिक प्रसंग का उल्लेख करते हुए उन्होंने सभी पर भिक्षुबाबा की कृपा बनी रहने की कामना की।

धम्म जागरण के प्रायोजक हीरालाल मालू एवं अन्य पदाधिकारी धम्म जागरण का आनन्द लेते हुए।

इस अवसर पर मालू परिवार का ट्रस्ट की ओर से सत्कार भी किया गया। आयोजन से जु़डे प्रकाश आच्छा कोठारी के द्वारा ध्वजारोहण के साथ शुरु हुए कार्यक्रम में ब़डी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। आयोजन के सहसंयोजक रिखब छाजे़ड ने संचालन किया। सभी का आभार ट्रस्ट के सचिव देवराज गादिया ने जताया। तेरापंथ समाज को ऊंचाइयों पर ले जाने वाले विद्वान आचार्यश्री भिक्षुजी का भादवा सुदी त्रयोदशी यानी सोमवार को २१५वां स्वर्गारोहण दिवस है। उनकी स्मृति में प्रतिवर्ष एक दिवस पूर्व हम उनके गुणों को याद करते हुए ऐसे विराट धम्म जागरण का आयोजन करते हैं, यह १८वां वर्ष है। शहर के अनेक उपनगरों से श्रावक-श्राविकाएं सैंक़डों की संख्या में उत्साह से भक्तिभाव से भाग लेते हैं। देवराज गादिया, मंत्री-भिक्षु धाम ट्रस्ट