श्रीयादे माताजी के वार्षिक सम्मेलन में उमड़े श्रद्धालु

285
श्रीयादे माता के दरबार में पदाधिकारी

बेंगलूरु। शहर के केआर पुरम स्थित प्रजापत समाज सेवा संघ के तत्वावधान में आराध्य देवी श्री श्रीयादे माताजी के ग्यारहवें वार्षिक सम्मेलन व जागरण महामहोत्सव का आयोजन केआर पुरम स्थित समाज प्रांगण में रखा गया। कार्यक्रम की शुरुआत में श्रीगणपति व श्रीयादे माताजी की तस्वीर पर माल्र्यापण व दीप प्रज्वलित कर स्थापना की गई। मंगलवार को रात्रि में गणपति वंदना से भजन गायक राजू सियोल ने भजनों की क़डी में श्री श्रीयादे माता , अम्बे माँ, महादेव, लोक देवता बाबा रामदेव, गुरु महिमा आदि भजनों से सभागार के माहौल को भक्तिमय बना दिया। जयघोष व तालियों से कलाकारों का मनोबल ब़ढाते हुए सनातन धर्मप्रेमियों ने सुबह तक भजनों का रसपान किया। इस मौके पर विभिन्न वार्षिक च़ढावों की बोलियां भी बोली गई जिनमें समाज के लोगों ने ब़ढच़ढ कर भाग लिया। दूसरे दिन बुधवार को श्री यादे मंदिर में लाभार्थी परिवारों द्वारा माता की विशेष पूजा अर्चना की गई । तत्पश्चात समाज के लोगों ने कतारबद्ध होकर श्रीयादे की प्रतिमा के दर्शन किये तथा ज्योत में आहूतियां दी। इस मौके पर उपस्थित अतिथि, विशेषकर अखिल भारतीय एकता मंच के अध्यक्ष उदयकुमार सिंह व अन्य अतिथियों का सम्मान संघ के प्रधान मदनलाल हाटवा, अध्यक्ष मोहनलाल कुण्डलवाल, सचिव सुरेश गाडुनिया, मदनलाल भावी, महेन्द भद्रराना, बुदाराम भडकोलिया, सुरेन्द्र मेहरानिया, पूरणमल भडकोलिया, अरविंदकुमार काणा, नाथूराम बाबरिया, मदनलाल रावरिया, नवरतन कालवाड, प्रेमाराम काडवा़ड, हीरालाल कवाि़डया, कैलाश कपूरपुरा आदि सदस्यों ने किया। महाप्रसादी का लाभ अमराराम थावि़डया परिवार ने लिया था। क्षेत्र में प्रजापत समाज के पुरुष महिला श्रद्धालु अपनी पारम्परिक वेशभूषा में कार्यक्रम में शामिल होेने के लिए पहंुच रहे थे उन्हें देखकर लग रहा था कि मानो राजस्थान का कोई मेला लगा हो। ज्ञातव्य है कि बेंगलूरु शहर में प्रजापत समाज के अनेक संघ हैं। केआर पुरम संघ में हेब्बाल, केआरपुरम, राममूर्तिनगर, बानसवा़डी, वरतूर, व्हाइटफील्ड, टीसी पाल्या, महादेवपुरा आसपास के क्षेत्र के ३०० सदस्य हैं ।

सम्मेलन में उपस्थित श्रद्धालुगण