सकल जैन समाज के हजारों श्रद्धालुओं ने मनाया महावीर जन्मोत्सव

297

बेंगलूरु। मराठा हॉस्टल मैदान में जैन समाज के हजारों श्रद्धालुओं ने मंगलवार को भगवान महावीर के जन्म वांचन महोत्सव के मौके पर संतश्री ललितप्रभसागरजी, संतश्री चन्द्रप्रभजी और मुनि शांतिप्रियसागरजी महाराज के सान्निध्य में महावीर जन्मोत्सव मनाने का आनन्द उठाया। सभी सत्संगप्रेमियों ने महावीर भगवान की जय के जयकारे लगाते हुए उनके मनोहारी झूले को झुलाया। इस अवसर पर छप्पन दिक् कुमारियाँ बनकर आई सैंक़डों महिलाओं ने नृत्य किया। संत ललितप्रभजी ने महावीर प्रभु की भक्ति पर गीत गाए। जिन कुशलसूरि जैन दादावा़डी ट्रस्ट के तत्त्वावधान में आयोजित समारोह में माता त्रिशला द्वारा देखे गए चोदह स्वप्नों के लाभार्थियों द्वारा सभी उपस्थित जनों को दर्शन करवाए गए और उनका विवेचन संतप्रवर द्वारा किया गया। जब संत चन्द्रप्रभ ने भगवान का जन्मवांचन किया तो श्रद्धालुओं ने नारियल फो़डकर सभी को बधाईयाँ दीं। महामंत्री कुशल गुलेच्छा ने बताया कि बुधवार को संत ललितप्रभजी वर्धमान से महावीर की यात्रा का रहस्य पर प्रवचन देंगे।