सिद्धाचल स्थूलभद्र धाम के 52 जिनालय में ध्वजारोहण सम्पन्न

573

बेंगलूरु। दक्षिण का शत्रुजंय तीर्थ कहे जाने वाले देवनहल्ली स्थित सिद्धाचल स्थूलभद्र विहार धाम में मंगलवार को आचार्यश्री चन्द्रयशसूरीश्वरजी की निश्रा में मोतीशा टुंक ५२ जिनालयांे पर पन्द्रहवां ध्वजारोहण पूरे विधिविधान से सम्पन्न हुआ। सबसे पहले ५२ जिनालय की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में सुबह तीर्थ धाम में १८ अभिषेक का आयोजन किया गया जिसमें ब़डी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। अभिषेक के बाद आचार्यश्री की निश्रा में शुभ मुहूर्त में पुण्याहम्-पुण्याहम्, प्रियताम्-प्रियताम् के जयघोष के साथ लाभार्थी परिवारों द्वारा ५२ मंदिरों के शिखरों पर ध्वजारोहण किया गया। मुख्य मंदिर के शिखर कर एस. देवराज खटे़ड परिवार के दुर्लभ खटे़ड ने ध्वजा फहराई। विधि विधान अश्विनगुरु ने सम्पन्न करवाए तथा प्रतीक गेमावत व मुकेश एंड पार्टी द्वारा संगीत की प्रस्तुति दी गई। ज्ञातव्य है कि आचार्यश्री का आगामी चातुर्मास सिद्धाचल तीर्थ पर तय है जिसके लिए २ जुुलाई को चातुर्मास प्रवेश होगा।