आज लंका पर चढ़ाई करने उतरेगी ‘विराट सेना’

भारत और श्रीलंका के बीच यह 150वां एकदिवसीय मैच होगा

303

लंदन। चोट के कारण चैंपियंस ट्राफी के पहले मैच में नहीं खेल पाए श्रीलंका टीम के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने भारत के खिलाफ गुरुवार को होने वाले ’’करो या मरो’’ मैच के लिए फिटनेस टेस्ट पास कर लिया है और वह इस मैच में खेलने उतरेंगे। मैथ्यूज ने सोशल साइट पर बताया कि उनकी चोट में काफी हद तक सुधार है। उन्हें गेंदबाजी में थो़डी दिक्कत है लेकिन बतौर बल्लेबाज वह पूरी तरह से फिट हैं। उन्होंने लॉर्ड्स में आयोजित फिटनेस टेस्ट पास कर लिया है। मैथ्यूज को फील्डिंग कोच निक पोट्हास के साथ अभ्यास करते भी देखा गया। मैथ्यूज ने कहा, मैं पूरी तरह फिट हूं, लेकिन गेंदबाजी नहीं कर पा रहा हूं। पिछले छह से आठ महीने मेरे लिए काफी निराशाजनक रहे हैं। मैंने हमेशा जल्द से जल्द मैदान पर वापसी करने की कोशिश की है। मुझे बार-बार इस तरह की चुनौतियों का सामना करना प़डा है लेकिन मेरा लक्ष्य हमेशा अपने खेल पर ध्यान के्द्रिरत करने का रहा। उन्होंने कहा, पिछले मैच भी मैंने खेलने की इच्छा व्यक्त की थी लेकिन टीम प्रबंधन मेरी चोट को लेकर कोई जोखिम नहीं लेना चाहता था। मेरे खेलने से चिंता ब़ढ सकती थी इसलिए मेरे नहीं खेलने देने का फैसला किया गया। मैं बल्लेबाज के रूप में पूरी तरह से फिट हूं लेकिन गेंदबाजी में थो़डी परेशानी हो सकती है। श्रीलंका को टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका से शिकस्त झेलना प़डी थी। इसी वजह से भारत के खिलाफ एंजेलो मैथ्यूज के नेतृत्व वाली टीम के लिए यह मुकाबला करो या मरो से कम नहीं होगा। इस हार के बाद श्रीलंका के लिए मुश्किलें काफी ब़ढ जाएंगी।इस वर्ष मैथ्यूज चोटों से परेशान रहे। उन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भी चोट से ही परेशानी रही और वह खुलकर नहीं खेल सके। स्टार ऑलराउंडर को चैंपियंस ट्रॉफी के लिए फिट घोषित कर दिया गया लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ वॉर्म-अप मैच में मैथ्यूज फिर चोट खा बैठे।

लंदन। आक्रामक कप्तान विराट कोहली की सेना पाकिस्तान को फतह करने के बाद अब श्रीलंका पर च़ढाई करने और आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के सेमीफाइनल का टिकट कटाने उतरेगी। भारत और श्रीलंका का ग्रुप बी मुकाबला गुरुवार को ओवल मैदान पर खेला जाएगा। गत चैंपियन भारत ने अपने ग्रुप के पहले मैच में पाकिस्तान की चुनौती को १२४ रन से ध्वस्त किया था। भारत का दूसरा सामना श्रीलंका के साथ है जिसे अपने पहले मैच में ओवल में ही दक्षिण अफ्रीका के हाथों ९६ रन की करारी हार मिली थी। दोनों टीमों के बीच यह १५०वां एकदिवसीय मैच होगा। एकदिवसीय इतिहास में यह पहला अवसर होगा जब दो टीमें आपस में १५० मैच पूरे करेंगी। इस लिहाज से इस मुकाबले का महत्व और भी ज्यादा ब़ढ जाता है। टीम इंडिया ने पाकिस्तान के खिलाफ बल्ले और गेंद से जबरदस्त प्रदर्शन किया था। भारत ने वर्षा बाधित मैच में तीन विकेट पर ३१९ रन का विशाल स्कोर बनाने के बाद पाकिस्तान को ३३.४ ओवर में १६४ रन पर निपटा दिया था। भारत ने डकवर्थ लुईस नियम के तहत यह मैच १२४ रन से जीता था।भारत को इस ग्रुप में एक और जीत सीधे सेमीफाइनल में पहुंचा देगी। कप्तान विराट की यही कोशिश रहेगी कि सेमीफाइनल का निपटारा दूसरे मैच में ही कर दिया जाए ताकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ११ जून को आखिरी ग्रुप मैच में अगर-मगर की कोई गुंजाइश न बचे। टीम इंडिया के लिए अपने दोनों ओपनरों रोहित शर्मा और शिखर धवन का फार्म में लौटना ब़डे राहत की बात है। रोहित ने पाकिस्तान के खिलाफ ९१ और शिखर ने ६८ रन बनाए थे। दोनों ने पहले विकेट के लिए १३६ रन की ब़डी साझेदारी की थी जिसने भारत को मजबूत स्कोर का आधार दिया था। इस आधार का फायदा उठाते हुए विराट ने नाबाद ८१ और युवराज सिंह ने ५३ रन ठोके थे। श्रीलंका की टीम दक्षिण अफ्रीका के २९९ रन के जवाब में २०३ रन पर सिमट गई थी। श्रीलंका के कार्यवाहक कप्तान उपुल तरंगा ने हालांकि सर्वाधिक ५७ रन बनाए थे लेकिन वह धीमे ओवररेट के कारण दो मैचों के लिए निलंबित हो गए हैं और भारत के खिलाफ नहीं खेल पाएंगे जिसका निश्चित रूप से श्रीलंका की बल्लेबाजी पर असर प़डेगा। श्रीलंका के लिए राहत की बात यही है कि उसके नियमित कप्तान और स्टार ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज अब फिट हैं और उनके भारत के खिलाफ मैच में लौटने की संभावना है। मैथ्यूज पहले मैच में नहीं खेल पाए थे। श्रीलंका को भारत के तेज गेंदबाजों का सामना करने के लिए अपने शीर्ष क्रम में स्थिरता लानी होगी।भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव और हार्दिक पांड्या की तेज तिक़डी ने पाकिस्तान को बुरी तरह झकझोरा था। हालांकि भारतीय यॉर्कर मैन जसप्रीत बुमराह कोई विकेट हासिल नहीं कर पाए थे लेकिन उनकी भूमिका डैथ ओवरों में खासी महत्वपूर्ण रहेगी। बुमराह के आदर्श लसित मलिंगा श्रीलंकाई टीम में हैं और वह आईपीएल १० का खिताब जीतने वाली मुंबई इंडियंस में भी शामिल थे। मलिंगा श्रीलंका के सबसे अनुभवी गेंदबाज हैं लेकिन उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कोई विकेट नहीं मिला था। भारतीय बल्लेबाजी को रोकने के लिए मलिंगा, सुरंगा लकमल और नुवान प्रदीप को कुछ खास करना होगा। मैथ्यूज के आने से श्रीलंकाई गेंदबाजी को कुछ ताकत मिल सकती है। ओवल में खेले गए मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने जिस तरह चार विकेट हासिल किए थे उसे देखते हुए भारतीय लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा की भूमिका भी काफी महत्वपूर्ण हो जाती है। जडेजा ने पाकिस्तान के खिलाफ दो विकेट लेने के अलावा बेहतरीन रनआउट भी किया था। भारत के शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन को देखते हुए यह कह पाना मुश्किल है कि पहले मैच में बाहर रहे स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की इस मैच में वापसी हो पाएगी। भारत और श्रीलंका के बीच अब तक १४९ मैच खेले गए हैं जिसमें भारत ने ८३ जीते हैं, ५४ हारे हैं, एक टाई रहा है और ११ में कोई परिणाम नहीं निकला है। यह दोनों टीमों के बीच १५० वां मैच होगा।