भारत और पाकिस्तान में होगा ‘महा फाइनल’

254

बर्मिंघम। कामचलाऊ स्पिनर केदार जाधव की करिश्माई गेंदबाजी से शानदार वापसी करने वाले भारत ने गुरुवार को यहां रोहित शर्मा और कप्तान विराट कोहली की लाजवाब पारियों से बांग्लादेश को ५९ गेंद शेष रहते हुए नौ विकेट से करारी शिकस्त देकर शाही अंदाज में फाइनल में कदम रखा जहां उसका सामना चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा। भारत के सामने अपेक्षाकृत आसान लक्ष्य था और ऐसे में रोहित (१२९ गेंदों पर नाबाद १२३ रन) अपनी असली फार्म में दिखे। उन्होंने शिखर धवन (४६) के साथ पहले विकेट के लिए ८७ रन जो़डकर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई और फिर कोहली (७८ गेंदों पर नाबाद ९६ रन) के साथ दूसरे विकेट के लिए १७८ रन की अटूट साझेदारी की। शीर्ष क्रम के इन तीनों बल्लेबाजों की धांसू पारियों से भारत ने ४०.१ ओवर में एक विकेट पर २६५ रन बनाकर आसान जीत दर्ज की। रोहित ने अपनी पारी में १५ चौके और एक छक्का जबकि कोहली ने १३ चौके लगाए।इससे पहले तमीम इकबाल (७०) और मुशफिकर रहीम (६१) ने तीसरे विकेट के लिए १२३ रन जो़डकर बांग्लादेश को शुरुआती झटकों से उबारा। एजबेस्टन की सपाट पिच पर एक समय बांग्लादेश ३०० रन तक पहुंचने की स्थिति में दिख रहा था लेकिन भारत ने शानदार वापसी करके उसे सात विकेट पर २६४ रन ही बनाने दिए। कप्तान मशरेफी मुर्तजा ने २५ गेंदों पर नाबाद ३० रन बनाए। जाधव ने भारत को वापसी दिलाने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने छह ओवर में २२ रन देकर तमीम और मुशफिकर के महत्वपूर्ण विकेट लिए। जाधव ने पहले तमीम को बोल्ड किया और फिर मुशफिकुर को विराट के हाथों कैच कराया। तमीम ने ८२ गेंदों पर ७० रन में सात चौके और एक छक्का लगाया जबकि मुशफिकुर ने ८५ गेंदों पर ६१ रन में चार चौके लगाए। तमीम और मुशफिकुर के विकेट के बीच लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने शाकिब अल हसन( १५) को विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच करा दिया। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने मोसदक हुसैन (१५) को अपनी ही गेंद पर कैच किया और फिर महमूदुल्ला (२१) को बोल्ड कर बांग्लादेश का स्कोर ४५ ओवर में सात विकेट पर २२९ रन कर दिया। कप्तान मशरफे मुर्तजा ने नाबाद ३० और तस्कीन अहमद ने नाबाद ११ रन बनाकर बांग्लादेश को ५० ओवर की समाप्ति तक २६४ रन के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचा दिया। मुर्तजा ने २५ गेंदों की अपनी पारी में पांच चौके लगाए। बांग्लादेश के स्कोर में २२ अतिरिक्त रनों का भी ब़डा योगदान दिया जिसमें पांच पेनल्टी के रन भी रहे। भुवनेश्वर ने १० ओवर में ५३ रन पर दो विकेट, बुमराह ने १० ओवर में ४० रन पर दो विकेट, जाधव ने छह ओवर में २२ रन पर दो विकेट और जडेजा ने १० ओवर में ४८ रन पर एक विकेट लिया। जडेजा इससे चैंपियन्स टाफी में भारत की तरफ से सर्वाधिक १६ विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। भारत फाइनल में अपने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से भि़डेगा जिसे उसने लीग चरण के अपने शुरूआती मैच में १२४ रन से हराया था। पाकिस्तान ने बुधवार पहले सेमीफाइनल में मेजबान इंग्लैंड को आठ विकेट से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी।