मुंबई/भाषा। जाने-माने अभिनेता ऋषि कपूर का मुंबई के एक अस्पताल में बृहस्पतिवार को निधन हो गया। वे 67 वर्ष के थे। अभिनेता 2018 से ल्यूकेमिया (रक्त का कैंसर) से जंग लड़ रहे थे। उनके भाई एवं अभिनेता रणधीर कपूर ने कहा, ‘वह नहीं रहे। उनका निधन हो गया है।’

कपूर खानदान की तीसरी पीढ़ी के मशहूर शख्स ऋषि के परिवार में पत्नी नीतू कपूर, बेटा रणबीर कपूर और बेटी रिद्धिमा कपूर हैं। तबीयत बिगड़ने के बाद बुधवार को उन्हें एचएन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिल्म ‘डी-डे’ के उनके सह-कलाकार इरफान खान के निधन के एक दिन बाद ही उनके निधन की खबर आई है। खान का भी बुधवार को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया था, उन्हें भी कैंसर था। करीब तीन महीने पहले ऋषि की बहन रितु नंदा का भी कैंसर के कारण निधन हो गया था।

परिवार ने ऋषि के निधन के बाद एक बयान जारी करते हुए कहा, ‘दो साल तक ल्यूकेमिया से जंग लड़ने के बाद हमारे प्यारे ऋषि आज सुबह पौने नौ बजे इस दुनिया को अलविदा कह गए। डॉक्टरों और अस्पताल के कर्मियों का कहना है कि उन्होंने आखिरी सांस तक जंग जारी रखी।’

उन्होंने कहा, ‘दो महाद्वीपों में दो साल तक इलाज के दौरान वे जीने के लिए दृढ़ और लगातार खुश रहे। उनका ध्यान हमेशा परिवार, दोस्त, भोजन और फिल्मों पर केन्द्रित रहा और इस दौरान जो भी उनसे मिला वह हैरान रहा कि कैसे इस बीमारी को उन्होंने खुद पर हावी नहीं होने दिया।’ अमेरिका में करीब एक साल तक कैंसर का इलाज कराने के बाद वे पिछले साल सितंबर में भारत लौटे थे।

फरवरी में भी तबीयत खराब होने की वजह से उन्हें दो बार अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पहली बार दिल्ली में एक पारिवारिक समारोह में हिस्सा लेने गए ऋषि को संक्रमण के कारण वहां अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद मुंबई लौटने पर उन्हें बुखार होने के बाद अस्पताल मे भर्ती कराया गया।

ऋषि ने अपने पिता राज कपूर की फिल्म ‘श्री 420’ से बतौर बाल कलाकर बड़े पर्दे पर फिल्मी पारी का आगाज किया था। इसके बाद वे फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ में भी नजर आए। बतौर मुख्य अभिनेता 1973 में आई ‘बॉबी’ उनकी पहली फिल्म थी, जो एक बड़ी हिट थी। इसके बाद करीब तीन दशक तक उन्होंने कई रोमांटिक फिल्में कीं।

‘लैला मजनू’, ‘रफू चक्कर’, ‘कर्ज’, ‘चांदनी’, ‘हिना’, ‘सागर’ जैसी कई फिल्मों में उनके अभिनय को सराहा गया। अभिनेता के तौर पर अपनी दूसरी पारी को लेकर वे काफी संतुष्ट थे। इस दौरान वे अपनी पत्नी के साथ ‘दो दूनी चार’ में नजर आए। वहीं ‘अग्निपथ’, ‘कपूर एंड सन्स’, ‘102 नॉट आउट’ में अभिनय से उन्होंने एक बार फिर दिखा दिया कि बतौर कलाकार अभी वे सिनेमा जगत को और कितना योगदान दे सकते हैं।