अभिनेत्री रवीना टंडन
अभिनेत्री रवीना टंडन

मुंबई/दक्षिण भारत। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या से उनके प्रशंसक गम में डूबे हैं। सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है। वहीं, बॉलीवुड में ‘गंदी राजनीति’ पर बहस छिड़ गई है। फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े कई लोगों ने इस ओर संकेत किया है कि चकाचौंध से भरी फिल्मी दुनिया असल में वैसी नहीं होती, जैसी यह पर्दे पर दिखती है।

इस बीच, अभिनेत्री रवीना टंडन ने कई ट्वीट कर फिल्म इंडस्ट्री को ‘बेनकाब’ कर ऐसे लोगों को आड़े हाथों लिया है जो दूसरों का करियर तबाह कर देते हैं। रवीना ने अपना अनुभव साझा करते हुए लिखा कि करियर के शुरुआती दिनों में उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

यहां पुराना है गंदी राजनीति का खेल
रवीना ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री कई गुटों में बंटी हुई है और बॉलीवुड में काफी समय से गंदी राजनीति का खेल खेला जाता रहा है। रवीना ने बॉलीवुड में एक ‘मीन गर्ल’ गैंग का जिक्र करते हुए कहा कि किस प्रकार उन्हें भी हीरो और उनकी गर्लफ्रेंड द्वारा फिल्मों से निकाला गया।

रवीना ने ऐसे पत्रकारों पर भी प्रहार किया जो दूसरों का जीवन नष्ट कर देते हैं। वे बताती हैं कि ऐसे लोगों के कुछ पत्रकार चमचों की वजह से कितनी ही नकली कहानियां छप चुकी हैं, जिनका नतीजा यह हुआ कि काफी लोगों के करियर बर्बाद हो गए।

करना पड़ता है बहुत संघर्ष
रवीना ने बॉलीवुड में इस किस्म के लोगों से बचे रहने की सलाह देते हुए कहा कि इन कोशिशों में बहुत संघर्ष करना पड़ता है और सबको लड़ना चाहिए। हालांकि, वे दूसरे पक्ष का उल्लेख करते हुए कहती हैं कि इन हालात में कुछ लोग यहां टिक जाते हैं और कुछ नहीं।

जो लोग इन सबके खिलाफ आवाज उठाते हैं, उनके लिए हालात मुश्किल कर दिए जाते हैं। रवीना लिखती हैं कि जब आप सच बोलते हैं तो आपको झूठा और पागल करार दे दिया जाता है। उन्होंने इन सबमें कुछ पत्रकारों की भूमिका पर लिखा, चमचे पत्रकार पन्नों पर पन्ने लिखते जाते हैं और आपकी सारी मेहनत बर्बाद कर देते हैं।

जितना दबाने की कोशिश, उतनी ज्यादा लड़ाई
क्या ‘इनसाइडर’ के साथ भी बॉलीवुड में गलत हो सकता है? रवीना लिखती हैं, यह सब एक ‘इनसाइडर’ के साथ भी हो सकता है जो इंडस्ट्री में ही पैदा हुआ हो। उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए लिखा कि ऐसे हालात में हार नहीं मानी, जितना दबाने की कोशिश की गई, उतनी ज्यादा लड़ाई की। चूंकि गंदी राजनीति हर जगह होती है।

बॉलीवुड में बहुत ज्यादा दबाव
रवीना ने बॉलीवुड में खुद के अनुभव पर कहा, इस इंडस्ट्री में पैदा होने के बाद भी, मैं आभारी हूं कि इसने मुझे इतना दिया, लेकिन कुछ लोगों द्वारा खेली गई गंदी राजनीति गलत प्रभाव छोड़ सकती है। उन्होंने बॉलीवुड की हकीकत बयान करते हुए कहा, यहां दबाव बहुत ज्यादा है। कुछ अच्छे लोग हैं तो कुछ बुरे। यहां हर तरह के लोग है लेकिन इन से ही दुनिया बनती है।

सर ऊंचा कर चलते जाएं
रवीना ने फिल्म इंडस्ट्री से अपने प्रेम को रेखांकित करते हुए कहा कि यहां मौजूद अच्छाई और बुराई के बीच व्यक्ति को सारे टुकड़े उठाकर और सर ऊंचा कर बस चलते जाना चाहिए। उन्होंने बेहतर कल के लिए प्रार्थना की है।