आज हमारी लाइफस्टाइल इतनी बदल गई है कि हम बीमारियों की चपेट में बहुत जल्द आ जाते हैं। इन्हीं में से एक बीमारी हार्ट अटैक की है। जी हां, हमारी खराब जीवनशैली हमें दिल का मरीज बना रही है। जिससे अधिकतर लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। दुनियाभर में सबसे अधिक मौतें हार्ट अटैक के कारण हो रही हैं। इसलिए इससे सतर्क रहना बेहद जरूरी है। आपकी जरा सी लापरवाही से आपको नुकसान हो सकता है। लेकिन आप घबराइये नहीं क्योंकि ’’८०’’ का फार्मूला अपनाकर आप हार्ट अटैक को टाल सकते हैं। आइए जानें क्या है यह अद्भुत फॉर्मूला। दिल को दुरुस्त रखने के लिए लो ब्लड प्रेशर, बुरे कोलेस्ट्रॉल का स्तर, आराम की स्थिति में ध़डकन, खाली पेट शुगर अैर कमर का घेरा सभी ८० से कम रखें। २००७ यूनाइटेड प्रिवेंटिव सर्विसेज टास्क फोर्स के दिशानिर्देशों के मुताबिक, जिन लोगों का लोवर ब्लड प्रेशर ८० से कम हो उन्हें हर दो साल पर स्क्रीनिंग करानी चाहिए और जिन लोगों का लोवर ब्लड प्रेशर ८० से ८९ के बीच हो तो उन्हें हर साल स्क्रीनिंग कराना चाहिए।किडनी और फेफ़डों की कार्य प्रणाली को ८० प्रतिशत तक बनाए रखें।हार्ट अटैक से बचने के लिए साल में ८० दिन अनाज के सेवन से बचें यानी ८० दिन का उपवास रखें।कम कैलोरी खाने से हार्ट अटैक के खतरे में कमी देखी गई है। औसतन एक ग्राम खाने में ६ कैलोरी होती है। एक बार में किसी को भी ८० ग्राम से ज्यादा खाना नहीं खाना चाहिए। यानी हर आहार में ८० ग्राम से ज्यादा कैलोरी न लें।उच्च फाइबर, कम सैचुरेटेड फैट्स, कम रिफाइंड कार्बोहाइडेट्स और कम नमक वाला आहार लें।