बीमारी का घर है ऐसी

288

आजकल जो गर्मी के हालात हैं, उसमे बिना एसी के रहना हम सोच भी नहीं सकते। एसी हमारी िं़जदगी का अहम हिस्सा बन गया है। ऑि़फस, घर या फिर स़फर के दौरान हम ऐसी के बाहर तो सोच ही नहीं सकते। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसी हमारे शरीर के लिए कितना हानिकारक है? इसकी आदत के कारण हमारा शरीर कई तरह की समस्याओं और बीमारियों से ग्रसित हो रहा है।इससे सबसे ब़डी समस्या होती है हमारे शरीर को सा़फ हवा नहीं मिल पाना। एसी ऑन करने से पहले हम सारी खि़डकी-दरवा़जे बंद कर लेते हैं। इस कारण कमरे की हवा उतने ही दायरे में बंद हो जाती है, जिस कारण हमारे शरीर को फे्रश हवा नहीं मिल पाती और ये हमारे शरीर की ग्रोथ में रुकावट की तरह काम करता है।एसी में सोने के दौरान हम कमरे का तापमान कई बार अत्याधिक ठंडा कर देते हैं, हमारे शरीर की एक हद तक ठंड को बर्दाशत करने की क्षमता होती है, सोते वक़्त एक समय आता है, जब हमारा शरीर का़फी ठंडा हो जाता है और हमें पता भी नहीं चलता। इसी ठंड के कारण हमारे शरीर में हड्डियों से जु़डी समस्याएं शुरू होती हैं और यही समस्याएं बीमारियों का भी रूप ले लेती हैं। हम जैसे एसी ऑन करते हैं उसकी ठंडक से हमारा पसीना सूख जाता है। लेकिन ऐसी कमरे साथ-साथ शरीर की भी नमी खींच लेता है। इस नमी के कम होने से हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है। इससे त्वचा पर झुर्रियां दिखने लगती हैं। शरीर में पानी की कमी से बीमारियां तेजी सी शरीर पर हावि होने लगती हैं और त्वचा के कई रोग हमें जक़ड लेते हैं।एसी से हमें कई सारे ़फायदे ़जरूर मिलते हैं, लेकिन इसके नुकसान हद से ़ज्यादा हैं। हम आराम के चक्कर में इस कदर खो जाते हैं कि सेहत को ही भूल जाते हैं। इसका नुकसान हमें का़फी ब़डी कीमत चुका कर देना प़डता है। ऐसी का इस्तेमाल हमें ब़डे ही ध्यान से करना चाहिए। ताकि ये तकनीक हमें सुकून तो दे, लेकिन बीमारियां नहीं।