logo
कोरोना से बचने में शाकाहार कितना मददगार?
 
कोरोना से बचने में शाकाहार कितना मददगार?
फोटो स्रोत: PixaBay

बर्मिंघम (ब्रिटेन)/द कन्वरसेशन/दक्षिण भारत। क्या कोरोना जैसे विभिन्न वायरस से बचाव के लिए शाकाहार प्रभावी विकल्प है? चूंकि कोरोना महामारी शुरू होने के बाद ऐसे सुझाव चर्चा में हैं कि कुछ खाद्य पदार्थ या आहार इस संक्रमण से बचा सकते हैं। क्या इन दावों में कोई दम भी है?

एक अध्ययन में इसकी जांच की गई तो नतीजे चौंकाने वाले रहे। इसके नतीजे बताते हैं कि जिन स्वास्थ्य पेशेवरों ने शाकाहारी भोजन किया, उनमें कोरोना के मध्यम से गंभीर लक्षण पैदा होने का खतरा कम हो गया। यह अध्ययन ‘बीएमजे न्यूट्रीशन, प्रिवेंशन एंड हेल्थ’ में प्रकाशित हुआ है।

इसके साथ ही अध्ययन में यह बताया गया कि जो लोग कम कार्बोहाइड्रेट या ज्यादा प्रोटीन वाला आहार लेते रहे, उनमें कोरोना के मध्यम से गंभीर लक्षण पाए जाने का खतरा ज्यादा रहा। अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों ने शाकाहार अपनाया या जो ​मछली सहित मिश्राहार अपनाते रहे, उनमें कोरोना का खतरा कम रहा। अध्ययन में यह संकेत दिया गया है कि कोरोना के आहार और कोरोना के मध्यम से गंभीर लक्षण होने के खतरे के बीच संबंध होता है।

बताया गया कि इस अध्ययन में छह पश्चिमी देशों के 3,000 स्वास्थ्य पेशेवरों को शामिल किया गया। उनमें से सिर्फ 138 में मध्यम से गंभीर संक्रमण पाया गया। यह भी देखा गया कि 41 शाकाहारी लोग कोरोना से संक्रमित हुए थे। मछली का सेवन करने वाले पांच लोग संक्रमित पाए गए। इनमें कुछ ही लोगों में मध्यम से गंभीर लक्षण थे।

हालांकि, विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि ऐसे अध्ययन केवल निरीक्षण के लिए होते हैं ​जिनसे यह तो मालूम हो सकता है कि क्या हो रहा है, इनसे यह पता लगाना मुश्किल होता है कि किसी आहार का कोरोना से कितना संबंध है।