blast in amritsar village
blast in amritsar village

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में आतंकियों को लेकर अलर्ट के बीच रविवार को राजासांसी इलाके में धमाका हुआ। जानकारी के अनुसार, यहां एक डेरे के भवन को निशाना बनाकर फेंकी विस्फोटक सामग्री में धमाका हो गया। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई, वहीं 20 लोग घायल हो गए हैं। प्रत्य​क्षदर्शियों ने बताया कि राजासांसी गांव के निरंकारी भवन में मोटरसाइकिल सवार लोगों ने विस्फोटक सामग्री फेंकी, जिसमें धमाका हुआ। स्थानीय रिपोर्टों के अनुसार, हमलावरों ने नकाब से चेहरा छुपा रखा था। उन्होंने धमाके लिए ग्रेनेड का इस्तेमाल किया। घटना की जांच के लिए फोरेंसिक विशेषज्ञ मौके पर पहुंचे। पंजाब सरकार ने दिवंगत लोगों के परिजनों को मुआवजे में पांच लाख रुपए देने का ऐलान किया है।

घटना के दौरान यहां भय का माहौल था और लोग इधर-उधर भागने लगे। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने तहकीकात शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि इस घटना के पीछे कट्टरपंथी समूह हो सकते हैं। चूंकि रविवार के दिन यहां धार्मिक कार्यक्रम होते हैं। इसलिए आतंकियों को लोगों के इकट्ठे होने की जानकारी ​थी। इसलिए सुबह धमाका कर ज्यादा नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई। हमले के बाद इलाके की नाकाबंदी की गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली स्थित निरंकारी भवन की सुरक्षा बढ़ाई गई है।

बता दें कि राजासांसी गांव भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास स्थित है। अमृतसर से इसकी दूरी सात किलोमीटर और अंतरराष्ट्रीय सीमा से दूरी महज 20 किलोमीटर है। आईजी (बॉर्डर) सुरिंदर पाल सिंह परमार ने भी घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि निरंकारी भवन पर हमले में तीन लोग की मौत हो गई है। उन्होंने कुछ घायलों की स्थिति नाजुक बताई है। उन्होंने आशंका जताई कि भवन पर हमले में ग्रेनेड का इस्तेमाल हो सकता है।

घटना पर कई सवाल उठ रहे हैं। चूंकि पिछले दिनों ​ही सुरक्षा एजेंसियों ने आतंकी जाकिर मूसा की मौजूदगी को लेकर अलर्ट जारी किया था। अमृतसर में उसके पोस्टर भी लगाए गए थे। बीच में ऐसी खबरें आई थीं कि पंजाब में अलर्ट के बाद मूसा का रुख राजस्थान की ओर हो सकता है और यहां विधानसभा चुनावों में वह विघ्न डालने की कोशिश कर सकता है।

उससे पहले पठानकोट में हथियार दिखाकर एक वाहन को अगवा कर लिया गया था। आशंका जताई जा रही थी कि ऐसे लोग वाहन का गलत कार्यों में इस्तेमाल कर सकते हैं। अब अमृतसर के गांव में धमाके को इससे जोड़कर देखा जा रहा है।

खुफिया ब्यूरो की एक सूचना के मुताबिक, कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में लिप्त आतंकी जाकिर मूसा फिरोजपुर में देखा गया था। उसके सात आतंकियों के भी इधर आने के समाचार मिले थे। इसके बाद कई इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर पोस्टर लगाए और जनता से अपील की गई कि ये लोग कहीं दिखाई दें तो पुलिस को सूचित करें। धमाके के बाद पंजाब के सभी शहरों और दिल्ली तथा आसपास के इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीड़ितों के परिजनों से संवेदनाएं व्यक्त की हैं। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि पंजाब सरकार मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपए का मुआवजा देगी। वहीं घायलों का निशुल्क इलाज कराएगी। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि पीड़ितों को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं।

ये भी पढ़िए:
– चीन के चक्रव्यूह को भारत देगा मात, रेल लाइन के जरिए सीधे दिल्ली से जुड़ेगा लद्दाख
– राजस्थान: विधानसभा चुनाव में दोनों दलों का खेल बिगाड़ने की तैयारी में जुटे बागी
– ‘बॉर्डर’ के असली नायक ब्रिगेडियर चांदपुरी का निधन, 1971 के युद्ध में दिखाया था अद्भुत पराक्रम
– ब्रिटिश अदालत ने तिहाड़ जेल को बताया सुरक्षित, खुल सकती है माल्या के प्रत्यर्पण की राह