अयोध्या में नारे लगाते लोग
अयोध्या में नारे लगाते लोग

अयोध्या। राम की नगरी अयोध्या में आज भारी हलचल है। जगह-जगह मंदिर निर्माण के समर्थन में पोस्टर लगे हुए है। हजारों की तादाद में शिवसेना के कार्यकर्ता और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या में डेरा डाले हुए हैं। इसके अलावा आज ही विश्व हिंदू परिषद की धर्म सभा है। यहां शनिवार से ही दूर-दूर से विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता और साधु-संन्यासी बड़ी तादाद में इकट्ठे हो चुके हैं।

अयोध्या में विहिप, संघ और बजरंग दल के हजारों कार्यकर्ता बसों और रेलों से पहुंच रहे हैं। यहां मंदिर निर्माण के समर्थन में नारे लगाए जा रहे हैं। विहिप की धर्मसभा में भाग लेने के लिए बड़ी तादाद में कार्यकर्ता बड़े भक्तमाल की बगिया का रुख कर रहे हैं। माना जा रहा है कि इस स्थान पर संघ के एक लाख, विहिप के एक लाख और 10 हजार से ज्यादा बजरंग दल के कार्यकर्ता उपस्थित होंगे।

इतने बड़े जमावड़े को देखते हुए प्रशासन काफी ऐहतियात बरत रहा है। करीब पांच घंटे चलने वाली धर्मसभा के अलावा दूसरे स्थानों पर भारी सुरक्षाबल तैनात किया गया है। इसके लिए ड्रोन का भी इस्तेमाल किया गया है ताकि किसी अप्रिय घटना को टाला जा सके और कड़ी नजर रखी जा सके।

दूर-दूर से आए कार्यकर्ता अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर निर्माण की मांग कर रहे हैं। अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैयादास ने अपने बयान में मंदिर निर्माण की बात दोहराई। उन्होंने इस मामले पर उच्चतम न्यायालय के रुख पर कहा कि यह मुद्दा उसकी प्राथमिकता में नहीं है। जबकि हमारे लिए राम मंदिर से महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं है।

धर्मसभा में सौ से ज्यादा प्रसिद्ध साधु-संत भाग लेंगे। इनमें राम भद्राचार्य, स्वामी परमानंद, हंसदेवाचार्य जैसे नाम खासतौर पर शामिल हैं। हालांकि आयोजकों ने कहा है कि यहां तीन लाख से ज्यादा लोग जुटेंगे। विहिप की ओर से प्रांत संगठन मंत्री (अवध) भोलेंद्र ने कहा कि मंदिर को लेकर यह अंतिम धर्मसभा है। इसके बाद तो मंदिर का निर्माण ही शुरू होगा।