uddhav thackeray
uddhav thackeray

अयोध्या। राम मंदिर पर अयोध्या का माहौल गरमाता जा रहा है। यहां शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने रविवार को रामलला के दर्शन किए। उसके बाद एक प्रेस वार्ता में राम मंदिर का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि उनकी अयोध्या यात्रा सफल रही है। उद्धव ठाकरे ने मंदिर निर्माण पर जोर देते हुए कहा कि इसके लिए चाहे केंद्र कानून बनाए या अध्यादेश लेकर आए, लेकिन मंदिर का निर्माण शीघ्र होना चाहिए।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि चुनावों से पहले पार्टियां राम-राम करती हैं लेकिन बाद में आराम से बैठकर इसे भूल जाती हैं। उन्होंने बताया, संतों से मैंने कहा कि जो कार्य हम करने जा रहे हैं, वो आपके सहयोग के बिना पूरा नहीं हो सकता। उद्धव ने बताया कि देश राम मंदिर निर्माण की प्रतीक्षा कर रहा है। उन्होंने सवाल पूछा कि आखिर ​कब तक इंतजार करना होगा।

उद्धव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जिक्र करते हुए कहा कि वे बोलते हैं कि वहां मंदिर था है और रहेगा, लेकिन यह हमारी धारणा है। उद्धव ने कहा कि मंदिर दिखना चाहिए और इसका निर्माण जल्द पूरा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए कानून बनाया जाए या अध्यादेश लाया जाए, शिवसेना साथ दे रही है।

उद्धव ने कहा कि हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। उन्होंने बयान दिया कि अब हिंदू ताकतवर हो गया है। अब हिंदू मार तो खाएगा ही नहीं। अब चुप भी नहीं बैठेगा। उद्धव ने पूछा, यह सरकार मंदिर नहीं बनाएगी तो कौन बनाएगा? उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण नहीं कर सकते तो स्पष्ट कह देना चाहिए कि यह हमसे नहीं होगा और चुनाव के समय मंदिर का मुद्दा न उठाएं। उन्होंने कहा कि यदि मामला अदालत में ही जाना है तो चुनाव प्रचार के समय इसका इस्तेमाल नहीं करें। उन्होंने कहा कि लोगों को बता दो कि यह भी एक चुनावी जुमला था।

उद्धव ने कहा कि आज की सरकार बहुत ताकतवर है, अगर वह चाहे तो मंदिर बन सकता है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारीख का ऐलान होना चाहिए। उद्धव ने राम मंदिर के लिए आवाज बुलंद करते हुए कहा कि भविष्य में भले ही भाजपा की सरकार न बने लेकिन राम मंदिर का निर्माण अवश्य होगा। उन्होंने कहा कि सरकार को हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़ नहीं करना चाहिए।

शनिवार को ही अयोध्या पहुंचे उद्धव ने कहा था कि वे यहां राजनीति करने नहीं बल्कि सोए हुए कुंभकर्ण को जगाने आए हैं। उन्होंने कहा था कि यदि मंदिर निर्माण को लेकर सरकार कानून या अध्यादेश लाएगी तो शिवसेना का उसको पूरा समर्थन होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा तारीख बताए कि राम मंदिर का निर्माण कब होगा।