rajnath singh
rajnath singh

रायपुर। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि आगामी तीन से पांच साल में नक्सल समस्या हल हो जाएगी। वे छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की एक जनसभा को संबोधित करने आए थे। प्रदेश में 20 नवंबर को दूसरे चरण का मतदान होगा। राजनाथ सिंह​ ने कहा कि अब नक्सलवाद अपने आखिरी दौर से गुजर रहा है और बहुत जल्द इसका अंत हो जाएगा।

गृह मंत्री ने बताया कि पहले देश के 90 जिले नक्सल समस्या से प्रभावित थे। अब 10 से 11 जिले ही नक्सल समस्या से प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही भारत नक्सल समस्या से मुक्त होगा। उन्होंने सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ और नक्सलियों के खात्मे पर भी विचार व्यक्त किए। राजनाथ सिंह ने कहा कि पहले नक्सली घटनाओं में सुरक्षा बलों की ज्यादा शहादतें होती थीं।

गृह मंत्री ने कहा कि अब सुरक्षाबलों की कार्रवाई में नक्सली ज्यादा मारे जा रहे हैं। उन्होंने ऐसे लोगों से मुख्य धारा में लौटने और बंदूक छोड़ने की अपील की जो नक्सलवाद के रास्ते पर चल पड़े हैं। इसके लिए आत्समर्पण की नीति को उचित बताया। उन्होंने कहा कि इसे और प्रभावी बनाने का फैसला लिया गया है।

इस मौके पर राजनाथ सिंह ने उम्मीद जताई कि प्रदेश में चौथी बार भाजपा की सरकार बनेगी और नक्सलवाद का खात्मा होगा। जब गृह मंत्री से पूछा गया कि देश से नक्सल समस्या कब खत्म होगी, तो उन्होंने कहा कि आगामी तीन से पांच वर्षों में देश नक्सल समस्या से मुक्त हो जाएगा।

‘विपक्ष ने खोया विश्वास’
राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में सभी विपक्षी दलों के प्रति लोगों के विश्वास में कमी आई है। वहीं उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार की तारीफ की। गृह मंत्री ने कहा कि यहां 15 वर्षों से भाजपा की सरकार है। उन्होंने लोगों का भरोसा भाजपा और मुख्यमंत्री रमन सिंह पर बरकरार बताया। उन्होंने कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दलों पर कहा कि ये लोगों के विश्वास की कमी का सामना कर रहे हैंं

राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस की स्थिति कमजोर हो गई है। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस को यहां मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं मिला है। उन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की स्थिति बिना दूल्हे वाली बारात जैसी बताई। उन्होंने केंद्र में पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों के फैसलों पर सवाल उठाए। राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस द्वारा गरीबी हटाने के नारे के बावजूद इससे गरीबों का भला नहीं हुआ और न ही बैंकों के राष्ट्रीयकरण से गरीबों को फायदा हुआ।

राजनाथ सिंह ने केंद्र की मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि बैंकों के सामान्यीकरण से लोगों को फायदा मिला है। उन्होंने कांग्रेस के घोषणा पत्र पर कहा कि इसका कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पर शब्दबाण चलाते हुए पूछा कि जो पार्टी अपना विश्वास खो चुकी है, उसके घोषणा पत्र का क्या औचित्य है।