भारतीय सेना
भारतीय सेना

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले में गुरुवार को एक जोरदार मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर हो गए। यह मुठभेड़ सोपोर इलाके में हुई। जानकारी के अनुसार, यहां सुरक्षाबलों ने बुधवार को ही कार्रवाई शुरू कर दी थी। मारे गए आतंकियों का ताल्लुक लश्कर-ए-तैयबा से बताया गया है। मुठभेड़ के बाद यहां तलाशी अभियान चलाया गया है। सुरक्षाबलों को अपने खुफिया सूत्रों से सूचना मिली थी कि बारामूला में सोपोर के ब्राथ कलां गुंड मोहल्ले में आतंकी छिपे हैं।

इसके बाद सुरक्षाबलों ने यहां बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया। बुधवार शाम को आतंकियों पर गोलीबारी शुरू कर दी थी, जिसका सुरक्षाबलों ने जोरदार जवाब दिया। सुरक्षाबलों की मजबूत घेराबंदी और गोलियों की बौछार से आतंकियों के हौसले पस्त होते गए। आखिरकार दो आतंकी ढेर कर दिए गए। आतंकियों के मारे जाने के बाद यहां बड़े स्तर पर तलाशी अभियान चलाया गया ताकि आसपास छुपा कोई आतंकी बचकर न जा सके।

इस अभियान में सेना, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से भाग लिया था। कार्रवाई के बाद इलाके में इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है। यहां आसपास के रास्तों को अस्थायी रूप से बंद किया गया है। आतंकी यहां एक मकान में छिपे हुए थे। देर शाम को गोलीबारी के बाद जब अंधेरा हो गया तो आॅपरेशन रोका गया। हालांकि सुबह होते ही फिर गोलीबारी शुरू हो गई।

बता दें कि कश्मीर घाटी में आॅपरेशन आॅल आउट के तहत आतंकियों के खिलाफ बड़े स्तर पर कार्रवाई हो रही है। अब तक विभिन्न आतंकी संगठनों के शीर्ष कमांडर ढेर कर दिए गए हैं। इस साल कश्मीर घाटी में सुरक्षाबलों ने 235 से ज्यादा आतंकी मार गिराए हैं। सूबे में राज्यपाल शासन लगने के बाद आतंकियों के ​खात्मे में तेजी आई है। इस साल आतंकवाद के प्रति सुरक्षाबलों का रुख और ज्यादा सख्त हुआ है। विभिन्न अभियानों में उन्हें सफलता मिल रही है। पिछले दिनों सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने संकेत दिया था कि आतंकियों के बारे में स्थानीय लोग ही सुरक्षाबलों तक सूचनाएं पहुंचा रहे हैं।

ये भी पढ़िए:
– ‘आप’ को 3 राज्यों में नोटा से भी कम वोट, कई प्रत्याशियों की जमानत जब्त
– चौंकाने वाले रहे नवलगढ़ के चुनाव नतीजे, 12 की जमानत जब्त
– राजस्थान में बढ़ी नोटा की धमक, कई सीटों पर बिगड़ा कांग्रेस-भाजपा का खेल
– आमेर: काम न आया पिलानिया का दल बदलना, नतीजों ने बदल दिए समीकरण