मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

अयोध्या। दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को घोषणा की है कि फैजाबाद जिले का नाम अयोध्या होगा। यहां दीपोत्सव के साक्षी बनने आए देश-विदेश के अतिथि और श्रद्धालुओं के बीच योगी आदित्यनाथ ने दिवाली से एक दिन पहले यह घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से अयोध्या के नाम से यह जनपद जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि यह हमारी आन, बान और शान का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि अयोध्या की पहचान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम से है।

मुख्यमंत्री ने अयोध्या के दीपोत्सव की प्रशंसा करते हुए कहा कि इसे दुनिया ने स्मरण किया है। आज कोरिया गणराज्य भी इस उत्सव में शामिल हुआ है। उन्होंने कहा कि दुनिया की कोई ताकत अयोध्या के साथ अन्याय नहीं कर सकती। उन्होंने अयोध्या की भावना को भारत से जोड़ते हुए कहा कि देश जानता है कि अयोध्या क्या चाहता है। योगी ने कहा कि हम अयोध्या का विकास चाहते हैं और इसे नई ऊंचाइयों पर लेकर जाएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में भगवान राम के नाम पर हवाईअड्डे की भी घोषणा की है। उन्होंने मेडिकल कॉलेज को श्रीराम के पिता दशरथ के नाम पर करने की घोषणा की है। योगी ​आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या में एक नया मेडिकल कॉलेज बन रहा है, जो राजर्षि दशरथ के नाम पर होगा। वहीं हवाईअड्डा मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के नाम पर होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि हरिद्वार की तरह अयोध्या में सरयू के किनारों का विकास किया जाएगा। इस कार्यक्रम में कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला किम-जंग सूक अतिथि थीं। योगी ने उनका स्वागत किया और कहा कि इससे कार्यक्रम को अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त हुई है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज देश प्रगति की नई ऊंचाइयों पर पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि जो सोच श्रीराम की थी, आज भारत मोदीजी के नेतृत्व में उसी दिशा की ओर अग्रसर है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीराम द्वारा लंका विजय का उल्लेख किया और कहा कि जीतने के बावजूद भगवान ने रावण के भाई को सत्ता सौंपी। उन्होंने इसे भारत की सांस्कृतिक पहचान बताया। योगी ने कहा कि भारत ने सबको गले लगाया है, इसलिए जो भी यहां आया, वह भारत का हो गया। योगी ने कोरियाई प्रतिनिधि मंडल का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव के माध्यम से हम अतीत से जुड़े रहे हैं। जो अतीत से भटका हुआ होता है, वह त्रिशंकु होता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जनकपुर और अयोध्या के बीच शुरू की गई बस सेवा का जिक्र किया। उन्होंने बताया कि वे भी जनकपुर जा रहे हैं। उन्होंने मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार की योजनाओं के फायदे गिनाए। बैंक खाते, गरीबों को गैस कनेक्शन, बिजली कनेक्शन, आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं के फायदे बताते हुए योगी ने कहा कि मोदी सरकार ने रामराज्य की परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए ये कार्यक्रम जारी रखे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में खुले तारों को अंडरग्राउंड करने, सड़कों को चौड़ा करने सहित किए गए विभिन्न विकास कार्य गिनाए। उन्होंने सरयू की स्वच्छता के बारे में कहा कि यहां गिरने वाले गंदे नाले बंद होंगे। दीपोत्सव के साथ स्वच्छता के ये कार्यक्रम आगे बढ़ाए जाएंगे। दीपोत्सव कार्यक्रम के तहत अयोध्या को दीपों से खूब सजाया गया है। मंगलवार दोपहर को अध्योध्या में झांकी निकाली गई। रामायण के पात्रों का जगह-जगह स्वागत किया गया।