amritsar train accident
amritsar train accident

अमृतसर। दशहरे पर हुए ट्रेन हादसे में मृतकों की संख्या 61 तक पहुंच गई है। ट्रेन के ड्राइवर से भी रेलवे पूछताछ कर हादसे की वजह जानने में जुटा है। वहीं रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि रेलवे की ओर से चूक नहीं हुई, क्योंकि उसे इस तरह के किसी कार्यक्रम की कोई सूचना नहीं दी गई थी।

सिन्हा ने कहा कि जहां यह हादसा हुआ, वहां मोड़ है। इसलिए ड्राइवर द्वारा पहले से भीड़ को देखना मुमकिन नहीं था। उल्लेखनीय है कि ट्रेन के ड्राइवर ने कहा था कि उसे ​ग्रीन सिग्नल दिया गया और इस बात का कोई अनुमान नहीं था कि आगे पटरियों पर बड़ी तादाद में लोग खड़े हैं।

हादसे पर रेल राज्य मंत्री ने कहा है कि लोगों को रेल की पटरियों के नजदीक इस तरह के आयोजन नहीं करने चाहिए। उन्होंने हादसे में रेलवे की ओर से हुई चूक से इनकार किया। उन्होंने कहा कि रेलवे को यह सूचना नहीं दी गई थी कि उस स्थान पर दशहरे को लेकर इतना बड़ा कार्यक्रम हो रहा है।

सिन्हा ने कहा कि ड्राइवरों को यह निर्देश होता है कि ट्रेन की रफ्तार कहां धीमी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे मुद्दों पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। सिन्हा ने बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय को भी सूचना दे दी गई है।

वहीं राज्य सरकार ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अमृतसर पहुंचे और अधिकारियों से जानकारी ली। शुक्रवार को जिस वक्त रावण दहन हो रहा था, कई लोग मोबाइल फोन से वीडियो बना रहे थे। हादसे के पल भी कुछ वीडियो में कैद हो गए। इनमें देखा गया कि ट्रेन बेहद तेज रफ्तार से आई और कुछ ही सेकंड में लोगों को काटकर आगे निकल गई। यह सब इतना जल्दी हुआ कि लोगों को संभलने का मौका ही नहीं मिला।

ये भी पढ़िए:
– अमृतसर हादसा: पटाखों की गूंज में तूफान की तरह गुजरी ट्रेन, वायरल हो रहा यह वीडियो
– अंतरिक्ष में बड़ी छलांग लगाने की तैयारी में चीन, खुद का चांद बनाकर पैदा करेगा रोशनी
– लुधियाना में चाट विक्रेता के पास मिली करोड़ों की अघोषित आय, ठाठ देखकर रह जाएंगे हैरान