rajnath singh
rajnath singh

जयपुर। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह रविवार को राजस्थान आए। यहां उन्होंने बानसूर, बिलाड़ा और सोजत में जनसभाओं को संबोधित किया। वहीं जयपुर में प्रेसवार्ता कर कई सवालों के जवाब दिए। यहां उन्होंने पाकिस्तान को कहा कि अगर वह आतंकवाद से मुकाबला नहीं कर पा रहा है तो भारत मदद के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, ‘मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि अगर अफगानिस्तान में अमेरिका का सहयोग लेकर तालिबान के खिलाफ लड़ाई हो सकती है तो आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई क्यों नहीं हो सकती?’

राजनाथ सिंह ने कहा कि यदि पाकिस्तान अपने दम पर आतंकवाद का मुकाबला करने में सक्षम नहीं है तो भारत से सहयोग ले सकता है। उन्होंने पाक में करतारपुर शिलान्यास समारोह के दौरान इमरान द्वारा कश्मीर का जिक्र करने पर कहा कि वे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को यह संदेश देना चाहते हैं कि मुद्दा कश्मीर नहीं है। कश्मीर तो भारत का अभिन्न अंग था, है और रहेगा। उन्होंने कहा कि मुद्दा आतंकवाद है। अगर आतंकवाद पर पाकिस्तान बात करना चाहता है तो बात हो सकती है।

राजनाथ सिं​ह ने कहा कि साढ़े चार साल में देश में आतंकवाद की कोई बड़ी वारदात नहीं हुई। यह केवल कश्मीर में सिमट गया है। उन्होंने बताया कि वहां भी हालात में सुधार हो रहा है। गृहमंत्री ने बताया कि इसमें कोई दो मत नहीं कि आतंकवाद पाक प्रायोजित है। उन्होंने कहा कि हमने पूरे जम्मू-कश्मीर को राजनीतिक प्रक्रिया में लाकर खड़ा किया है।

देश की सीमाएं सुरक्षित
राजनाथ सिं​ह ने कहा कि देश और उसकी सीमाएं सुरक्षित हैं तथा आतंकवाद में कमी आई है। उन्होंने कहा कि देश का मस्तक ऊंचा रहेगा। गृहमंत्री ने नक्सलवाद पर कहा कि अब यह 90 जिलों से घटकर आठ-नौ जिलों में ही सिमट गया है। पिछले चार सालों में नक्सलवाद में पचास से साठ प्रतिशत कमी आई है। आगामी तीन से पांच सालों में नक्सलवाद खत्म हो जाएगा।

राजनाथ सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक पर दिए बयान पर कहा कि उन्होंने सेना के बहादुरी और प्रयास को सार्वजनिक क्यों नहीं किया। बता दें ​कि राहुल ने उदयपुर में कहा था कि डॉ. मनमोहन सिंह​ के शासन में पाक के खिलाफ तीन बार सर्जिकल स्ट्राइक हुईं, लेकिन कभी इसे सार्वजनिक कर श्रेय नहीं लिया। वहीं भाजपा चुनाव जीतने के लिए श्रेय ले रही है। इस पर राजनाथ ने कहा, वे अब इसके बारे में क्यों कह रहे हैं? .. लोगों को सेना की उपलब्धियों के बारे में जानने का अधिकार है।

कांग्रेस कर रही जाति-गोत्र की चर्चा
राजनाथ सिंह ने प्रेसवार्ता में कहा कि सारे देश का माहौल जो मुझे दिख रहा है, मैं कह सकता हूं कि पांचों राज्यों के चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो रहा है। .. यहां पर इन दिनों कांग्रेस पार्टी हिन्दू और हिन्दुत्व की भी चर्चा करने लगी है। पहले वो इन शब्दों का प्रयोग करने से बचते थे और परहेज करते थे। अब इनके द्वारा सारे हथकंडे किसी भी स्तर तक जाकर अपनाए जा रहे हैं। .. राजस्थान में कांग्रेस हताशा की स्थिति में जाति-गोत्र की चर्चा करने लगी है, यानी विकास और सुशासन के हाईवे से उतर कर सीधे वह जाति-गोत्र और मजहब की अंधेरी गलियों में भटकने लगी है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस के लोग हिन्दू और हिन्दुत्व की बात क्या करेंगे, जिन्होंने 2007 में रामसेतु के मामले में हलफनामा फाइल कर भगवान राम को काल्पनिक कहा। भारत की राजनीति में विश्वास का संकट अगर किसी एक राजनीतिक दल ने पैदा किया है तो वह कांग्रेस पार्टी है। इनके कृति और कथन में अंतर होने के कारण ही राजनीति में यह स्थिति पैदा हुई।

राणा की शक्ति, मीरा की भक्ति
राजनाथ सिंह ने कहा कि राजस्थान के लोगों का जाति-पंथ इन सब चीजों से ऊपर एक करिश्माई चरित्र रहा है। राष्ट्र हित और राष्ट्र गौरव की जहां बात आती है वहां सभी जातियों के लोग एक साथ खड़े हो जाते हैं। राणा की शक्ति, मीरा की भक्ति, पन्ना धाय की युक्ति और भामाशाह की संपत्ति यह राजस्थान की पहचान है।

इसके अलावा गृहमंत्री ने विभिन्न जनसभाओं में कांग्रेस पर खूब शब्दबाण छोड़े। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद लगातार 55 से 60 साल तक अगर किसी एक दल ने हुकूमत की है तो वह कांग्रेस है। भारत जैसे प्राकृतिक संसाधनों से सम्पन्न देश को समृद्ध बनाने के लिए क्या यह समय कम था? .. कांग्रेस के लोग अपने सीने पर हाथ रखकर खुद से यह सवाल करें कि क्या आपने हिन्दुस्तान की जनता को छला नहीं है।

राजनाथ सिंह ने भाजपा की तारीफ करते हुए कहा कि राजस्थान में एक भी पंचायत केंद्र नहीं बचा है, जहां वसुंधरा सरकार ने उच्च माध्यमिक स्कूल न खोला हो। 50 वर्षों में कांग्रेस सरकार ने राजस्थान में केवल 103 आईटीआई खोले लेकिन आपकी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मात्र पांच साल में 958 आईटीआई खोले हैं। .. राजस्थान हिन्दुस्तान का पहला राज्य है जहां भामाशाह कार्डधारियों को 3 लाख रुपए तक मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है।