dr faisal pakistan
dr faisal pakistan

इस्लामाबाद। सार्क सम्मेलन के लिए पाकिस्तान की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निमंत्रण भेजा जाएगा। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, उसके विदेश मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की है। बता दें कि वर्ष 2016 में उरी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान में होने वाले सार्क सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया था। भारत के इस रुख को देख दूसरे देशों ने भी सम्मेलन से किनारा कर लिया था। अब पाकिस्तान में नई सरकार आने के बाद मोदी को सार्क सम्मेलन के लिए निमंत्रण भेजने का फैसला लिया गया है।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने स्थानीय मीडिया को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने अपने मुल्क के प्रधानमंत्री इमरान खान के उस संबोधन का हवाला दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि भारत एक कदम बढ़ाएगा तो पाकिस्तान उस दिशा में दो कदम बढ़ाएगा। उन्होंने बताया कि इमरान भारत के साथ सभी मुद्दे बातचीत के जरिए सुलझाने में यकीन रखते हैं।

हालांकि डॉ. फैसल ने य​ह भी कहा कि भारत के साथ उनके देश के युद्ध भी हुए हैं। ऐसे में अचानक संबंध सहज नहीं हो सकते। उन्होंने अपने बयान में करतारपुर कॉरिडोर का उल्लेख किया जिससे सिख श्रद्धालुओं को काफी आसानी होगी। उन्होंने बताया कि 28 तारीख को इसका शिलान्यास होगा और छह माह में कार्य पूरा हो जाएगा। इसके लिए भारतीय मीडिया को भी बुलाया गया है।

फैसल ने इसे पाकिस्तान की कामयाबी करार दिया। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में कूटनीति के तौर—तरीके बदल चुके हैं। अब नीतियां निर्धारित करने में नागरिकों की इच्छाएं और भावनाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। बता दें कि सार्क के आठ सदस्य देश अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, मालदीव, पाकिस्तान और श्रीलंका हैं। पिछला सार्क सम्मेलन नवंबर 2014 में काठमांडू में हुआ था। वर्ष 2016 का सम्मेलन इस्लामाबाद में प्रस्तावित था, जो रद्द हो गया।