बसपा प्रमुख मायावती
बसपा प्रमुख मायावती

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। सीबीआई ने उत्तर प्रदेश की 21 सरकारी चीनी मिलों की बिक्री में कथित अनियमतता के मामले में जांच शुरू कर दी है। यह मामला तब का है जब बसपा प्रमुख मायावती उप्र की मुख्यमंत्री थीं। सीबीआई की इस कार्रवाई को आम चुनाव के बीच मायावती के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, 2011-12 में चीनी मिलों की बिक्री हुई थी, जिससे सरकारी खजाने को कथित रूप से 1,179 करोड़ रुपए की हानि हुई। अधिकारियों के मुताबिक, सीबीआई ने कथित अनियमितताओं की जांच के लिए एक प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं, छह प्रारंभिक जांच शुरू की हैं।

इस मामले में एजेंसी ने उप्र सरकार के किसी अधिकारी अथवा राज्य के किसी नेता को नामजद आरोपी नहीं बनाया। प्रदेश की योगी सरकार ने पिछले साल अप्रैल में इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।

जानकारी के अनुसार, सात लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं, जिन पर उप्र चीनी निगम लि. की मिलों की खरीद के दौरान फर्जी दस्तावेज जमा करने के आरोप हैं। उप्र सरकार ने मिलों की खरीद-बिक्री के दौरान फर्जीवाड़े और धोखाधड़ी की सीबीआई जांच की मांग की थी।

इसमें 21 चीनी मिलों की बिक्री और देवरिया, बरेली, लक्ष्मीगंज, हरदोई, रामकोला, चिट्टौनी और बाराबंकी में बंद पड़ीं सात मिलों की खरीद शामिल थी। तत्कालीन मायावती सरकार पर 10 चालू हालत वाली मिलों सहित 21 मिलों को बाजार कीमत से कम में बेचने का आरोप लगा था।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.