indian national congress
indian national congress

जयपुर। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के लिए रविवार को उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी कर दी। इसमें कुल 18 उम्मीदवार घोषित किए गए हैं। इस बार पार्टी ने अपने उम्मीदवारों के साथ ही सहयोगी दलों का भी ध्यान रखा है। कांग्रेस ने शरद यादव के लोकतांत्रिक जनता दल और अजीत सिंह के राष्ट्रीय लोक दल के लिए दो-दो सीटें और शरद पवार की एनसीपी के लिए एक सीट छोड़ी है। इसे महागठबंधन की संभावनाएं तलाशने के प्रयोग के तौर पर देखा जा रहा है।

इस सूची के मुताबिक, नोहर से अमित चाचन और बीकानेर पश्चिम से बीडी कल्ला उम्मीदवार बनाए गए हैं। उल्लेखनीय है कि बीकानेर पश्चिम से यशपाल गहलोत की सीट बदलकर बीकानेर पूर्व कर दी गई है। कांग्रेस ने खंडेला से सुभाष मील को मैदान में उतारा है। वहीं तिजारा से एमामुद्दीन अहमद खान उम्मीदवार हैं।

कांग्रेस ने किशनगढ़ बास से डॉ. करण सिंह यादव को टिकट दिया है। मुंडावर सीट लोकतांत्रिक जनता दल के लिए छोड़ी है। नगर सीट से मुरारी लाल गुर्जर उम्मीदवार हैं। भरतपुर सीट राष्ट्रीय लोक दल को दी गई है। मालपुरा सीट भी राष्ट्रीय लोक दल के उम्मीदवार के लिए छोड़ी गई है।

इसी प्रकार किशनगढ़ से नंदराम थाकन, जैतारण से दिलीप चौधरी, पाली से महावीर राजपुरोहित को टिकट मिला है। बाली सीट एनसीपी को दी गई है। कांग्रेस ने सुमेरपुर से रंजू रामावत को उम्मीदवार घोषित किया है। कुशलगढ़ सीट लोकतांत्रिक जनता दल को दी है। आसींद से मनीष मेवाड़ा और केशोराय पाटन से राकेश बोयत को टिकट दी है। बता दें कि बोयत को यहां सीएल प्रेमी के स्थान पर उतारा है।

पिछली दो सूचियों में जिस तरह कांग्रेस के दिग्गज नेता बीडी कल्ला का नाम गायब था, उसे लेकर बीकानेर में काफी चर्चा थी। कल्ला के समर्थक कांग्रेस नेतृत्व से नाराज थे। माना जा रहा था कि कल्ला निर्दलीय खड़े हो सकते थे। इसलिए कांग्रेस ने यहां दोबारा मंथन किया और उन्हें बीकानेर पश्चिम से उम्मीदवार बना दिया।

बीकानेर पश्चिम से पहले खड़े किए गए यशपाल गहलोत को बीकानेर पूर्व भेज दिया गया। यहां से कन्हैया लाल झंवर का टिकट काट दिया है। सुमेरपुर से कांग्रेस नेता बीना काक का नाम चर्चा में था, लेकिन बाद में रंजू रामावत को टिकट दिया गया। राजस्थान में 7 दिसंबर को मतदान होगा।

ये भी पढ़िए:
– चीन के चक्रव्यूह को भारत देगा मात, रेल लाइन के जरिए सीधे दिल्ली से जुड़ेगा लद्दाख
– राजस्थान: विधानसभा चुनाव में दोनों दलों का खेल बिगाड़ने की तैयारी में जुटे बागी
– ‘बॉर्डर’ के असली नायक ब्रिगेडियर चांदपुरी का निधन, 1971 के युद्ध में दिखाया था अद्भुत पराक्रम
– ब्रिटिश अदालत ने तिहाड़ जेल को बताया सुरक्षित, खुल सकती है माल्या के प्रत्यर्पण की राह