fawad chaudhry
fawad chaudhry

नई दिल्ली। करतार गलियारे के शिलान्यास के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के साथ दोस्ती और शांति कायम करने के लिए कई दावे किए थे, लेकिन उनके मंत्रियों के बयान यह जाहिर कर रहे हैं कि पाक की नीयत अब भी नहीं बदली है। उसके सूचना एवं प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी से हाफिज सईद को लेकर एक सवाल पूछा गया तो उन्होंने बेतुका बयान दिया कि फिर तो अजीत डोभाल को भी पाकिस्तान को सौंपा जाना चाहिए।

फवाद चौधरी के इस बयान पर भारत में तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई है। दरअसल भारत के एक टीवी चैनल ने फवाद चौधरी से पूछा था- ‘क्या पाकिस्तान मुंबई हमले के गुनहगार हाफिज सईद को भारत को सौंपेगा?’ इस पर उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान अपना नागरिक भारत को क्यों सौंपेगा?’ इसके बाद उन्होंने कुतर्क दिया कि इस लिहाज से तो अजीत डोभाल को भी पाकिस्तान को सौंप देना चाहिए।

फवाद चौधरी ने भारत पर कई आरोप लगाए और कश्मीर राग अलापा। उन्होंने कहा कि भारत सच स्वीकार नहीं करता और हर गलती पाकिस्तान पर मंढ़ देता है। फवाद चौधरी यहीं नहीं रुके। उन्होंने इससे भी आगे बढ़कर आधे भारत की मांग कर डाली। उन्होंने हाफिज सईद को भारत को सौंपे जाने के सवाल पर कहा, आप आप आधा भारत पाकिस्तान को सौंपेंगे?

डोभाल से क्यों घबराता है पाक?
पाकिस्तानी मंत्री के इस बेतुके बयान की सोशल मीडिया में खूब निंदा हो रही है कि उन्हें एक दुर्दांत आतंकी और किसी संप्रभु राष्ट्र के सुरक्षा सलाहकार में अंतर नहीं मालूम। बता दें कि पाकिस्तानी टीवी चैनलों पर अक्सर अजीत डोभाल का नाम चर्चा में रहता है। वहां आईएसआई और फौज के अफसर दावा करते हैं कि डोभाल पाकिस्तान को अस्थिर करना चाहते हैं।

पाकिस्तान के कई रक्षा विशेषज्ञ यह भी कहते रहे हैं कि बलोचिस्तान में फौज और सरकार के खिलाफ जो आंदोलन हो रहे हैं, उन्हें डोभाल के इशारे पर भड़काया जा रहा है। इसके अलावा पाकिस्तानी मीडिया यह दावा कर चुका है कि मोदी और डोभाल की जोड़ी ने उन्हें दुनिया से अलग-थलग कर बेहद मुश्किल हालात बना दिए हैं। पाकिस्तानी रक्षा विशेषज्ञ यह कहते रहे हैं कि डोभाल की रणनीति की वजह से उनके मंसूबे नाकाम होते जा रहे हैं।