बंगाल: भाजपा का ‘संकल्प पत्र’ जारी, महिलाओं को 33% आरक्षण, सीएए तुरंत लागू करने के वादे

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए संकल्प पत्र जारी करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एवं प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष।
बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए संकल्प पत्र जारी करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एवं प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष।

नई दिल्ली/कोलकाता/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का ‘संकल्प पत्र’ जारी किया। इसमें पार्टी ने कई वादे करते हुए भरोसा दिलाया है कि राज्य की सत्ता में आने पर उन्हें निभाया जाएगा।

शाह ने कहा कि कई वर्षों से संकल्प पत्र महज एक प्रक्रिया बनकर रह गया था। जब से भाजपा की सरकारें बनने लगीं, तब से संकल्प पत्र का महत्व बढ़ने लगा क्योंकि भाजपा सरकारें बनने के बाद ही संकल्प पत्र पर सरकारें चलने लगी हैं।

शाह ने कहा कि संकल्प पत्र में सिर्फ घोषणाएं नहीं हैं, बल्कि यह संकल्प है दुनिया के सबसे बड़े दल का, यह संकल्प है देश में 16 से ज्यादा राज्यों में जिसकी सरकार है उस पार्टी का, यह संकल्प है जिसकी पूर्ण बहुमत से लगातार दो बार बनी सरकार का।

शाह ने कहा कि राज्य सरकार की सभी नौकरियों में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा। पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलेगा, साथ ही 75 लाख किसानों को जो 18 हजार रुपए तीन साल से जो ममता दीदी ने नहीं पहुंचाया है, वो सीधे उनके बैंक अकाउंट में देंगे।

शाह ने कहा कि हर वर्ष किसानों को भारत सरकार की ओर से जो 6 हजार रुपए आते हैं, उसमें राज्य सरकार का 4 हजार रुपया जोड़कर दिया जाएगा। मत्स्य पालकों को हर वर्ष 6 हजार रुपए दिए जाएंगे। हमने तय किया है कि पहले ही कैबिनेट के अंदर बंगाल के हर गरीब को आयुष्मान भारत योजना का लाभ पहुंच पाए। व्यक्ति क्या, परिंदा भी पर न मार पाए, इस तरह की सीमा सुरक्षा की व्यवस्था करेंगे।

शाह ने कहा कि हमने तय किया है कि सीएए को पहली ही कैबिनेट बैठक में लागू करेंगे, मुख्यमंत्री शरणार्थी योजना के तहत प्रत्येक शरणार्थी परिवार को पांच साल तक डीबीटी से 10 हजार रुपए प्रतिवर्ष दिए जाएंगे।

शाह ने कहा कि हमने तय किया है कि देशभर में बेरोकटोक हर धर्म का त्योहार मनाया जाए।
विशेषकर सरस्वती पूजा और दुर्गा पूजा का त्योहार मनाने के लिए, भाजपा की सरकार बनने के बाद किसी को कोर्ट की मदद की जरूरत नहीं पड़ेगी।

शाह ने कहा कि सभी बेटियों के लिए केजी से पीजी तक की पढ़ाई निशुल्क होगी। पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सभी महिलाओं के लिए निशुल्क यात्रा की व्यवस्था होगी। ओबीसी आरक्षण की सूची में महिस्य, तेली और अन्य हिंदू समुदाय जो रह गए हैं, उनको समाविष्ट करने का काम भी भाजपा की सरकार करेगी।

शाह ने कहा कि कृषक सुरक्षा योजना के तहत हम हर भूमिहीन किसान को हर वर्ष 4,000 रुपए की सहायता देंगे। उत्तर बंगाल, जंगलमहल और सुंदरवन क्षेत्र में 3 नए एम्स बनाएंगे। हमने तय किया है कि बंगाल में सातवां वेतन आयोग सभी कर्मचारियों को दिया जाएगा। बंगाल को भ्रष्टाचार से मुक्त करने के लिए हम सीएमओ के अंतर्गत एंटी करप्सन हेल्प लाइन की शुरुआत करेंगे, जिससे कोई भी नागरिक सीधे मुख्यमंत्री को शिकायत पहुंचा पाएगा।

शाह ने कहा कि हर परिवार के लिए शौचालय और स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था की जाएगी। नोबेल पुरस्कार की तर्ज पर टैगोर पुरस्कार और ऑस्कर पुरस्कार की तर्ज पर सत्यजीत रे इंटरनेशनल अवॉर्ड की शुरुआत की जाएगी।

शाह ने कहा कि हम पश्चिम बंगाल की जनता से वादा करते हैं कि जैसे पहले कम्युनिस्ट और बाद में तृणमूल कांग्रेस ने सत्ता बरकरार रखने के लिए चुनाव में हिंसा की, हम निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करेंगे और राजनीतिक हिंसा बंगाल में भूतकाल की बात हो जाएगी।

शाह ने कहा कि 11 हजार करोड़ रुपए के सोनार बांग्ला फंड की शुरुआत करेंगे जो बंगाल के साहित्य, कला, संस्कृति और सारी विधाओं को प्रमोट करने का काम करेगा। हम निवेशकों के लिए इन्वेस्ट बांग्ला की स्थापना करेंगे।