किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है।
किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है।

नई दिल्ली/भाषा। केंद्र के नए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों द्वारा मंगलवार को आहूत ‘भारत बंद’ के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने सभी सीमाओं पर सुरक्षा कड़ी कर दी और शहर में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के पूरे इंतजाम किए हैं।

किसान नेताओं ने कहा था कि ‘भारत बंद’ के दौरान आपातकालीन सेवाओं को छूट दी जाएगी। प्रदर्शन कर रहे किसान पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे के बीच टोल प्लाजाओं को बंद कर देंगे। पुलिस के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘राष्ट्रीय राजधानी में, खासकर सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।’

उन्होंने कहा कि लोगों को सड़कों पर आवाजाही के दौरान कोई परेशानी न हो और कोई भी किसी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े, यह सुनिश्चित करने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

वहीं, डीसीपी (यातायात पश्चिम रेंज) ने ट्वीट किया, ‘टिकरी, झाड़ोदा बॉर्डर , ढांसा यातायात के लिए पूरी तरह बंद हैं। बडूसराय बॉर्डर केवल कार और दो-पहिया जैसे हल्के वाहनों के लिए खुली है।’ पुलिस ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि हरियाणा जाने के लिए दौराला, कापासहेड़ा, राजोकड़ी, एनएच-8, बिजवासन, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर खुले हैं।

भारतीय किसान एकता संगठन के अध्यक्ष जगजीत सिंह दल्लेवाला ने सोमवार को किसानों से शांति बनाये रखने और बंद लागू करने के लिए किसी से नहीं उलझने की अपील की। किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को हमारी मांगों को स्वीकार करना होगा। हम नए कृषि कानूनों को वापस लेने से कम किसी चीज में नहीं मानेंगे।’