निर्वाचन आयोग
निर्वाचन आयोग

नई दिल्ली/पटना/दक्षिण भारत। भाजपा द्वारा बिहार विधानसभा चुनाव के लिए जारी घोषणा पत्र में कोरोना की मुफ्त वैक्सीन के वादे पर शनिवार को चुनाव आयोग ने कहा कि यह आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।

यह जानकारी आयोग द्वारा एक शिकायत के बाद दी गई। यह शिकायत आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले द्वारा दायर की गई थी, जिसके जवाब में आयोग ने कहा कि मामले में आचार संहिता का उल्लंघन नहीं हुआ।

इस संबंध में आयोग ने आचार संहिता संबंधी आठवें खंड में चुनाव घोषणा पत्र के बारे में बताए गए दिशा-निर्देशों का हवाला दिया और कहा कि उक्त वादा नियमों के उल्लंघन के अंतर्गत नहीं आता।

आयोग के अनुसार, ‘संविधान में राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांतों में कहा गया है कि राज्य नागरिकों के कल्याण के लिए योजनाएं बनाएगा। ऐसे में चुनाव घोषणा पत्र में ऐसी कल्याणकारी योजना को लागू करने के वादे पर कोई आपत्ति नहीं हो सकती।’

बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा का घोषणा पत्र जारी किया था, जिसमें कोरोना के मुफ्त टीके का वादा किया गया था। आरटीआई कार्यकर्ता गोखले ने आरोप लगाया था कि ऐसा वादा पक्षपातपूर्ण और चुनाव के समय सत्ता का दुरुपयोग है।