घुसपैठ रोकने का काम प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा ही कर सकती है: शाह

जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। फोटो स्रोत: ट्विटर अकाउंट।
जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। फोटो स्रोत: ट्विटर अकाउंट।

माजुली/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को असम के माजुली में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर शब्दबाण छोड़े। उन्होंने कहा कि साल 2016 में, हमने कहा था कि आतंकवाद-मुक्त, घुसपैठ-मुक्त और कर्फ्यू-मुक्त असम देंगे। पांच साल बाद, मैं रिपोर्ट कार्ड पेश करने के लिए यहां हूं। सर्बानंदजी की सरकार ने सभी वादों को पूरा किया है।

शाह ने कहा कि विश्वभर के पर्यटक काजीरंगा आ सकते हैं, मगर आते कैसे; क्योंकि वहां भी बदरुद्दीन अजमल के घुसपैठिए कब्जा जमाकर बैठे थे। भाजपा की सरकार में अभियान शुरू हुआ और दो दिन के अंदर सारे घुसपैठिए काजीरंगा से बाहर कर दिए गए।

शाह ने कहा कि 15 साल तक यहां कांग्रेस की सरकार रही, अलग-अलग प्रकार के आतंकवादी संगठन गोलियां चलाते थे, लोगों को और हमारे सुरक्षाबलों के जवानों को मार देते थे। लेकिन इन पांच वर्षों में 2,000 आतंकवादियों ने हथियार डालकर मुख्यधारा में प्रवेश किया है और असम आतंकवाद मुक्त हो गया है।

शाह ने कहा कि कांग्रेस सबमें झगड़ा करवाकर अपनी राजनीति करती है। ये बदरुद्दीन अजमल के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे तो हम घुसपैठ नहीं रोक पाएंगे। घुसपैठ रोकने का काम प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा ही कर सकती है। असम को आतंकवाद से मुक्त रखने का काम मोदी ही कर सकते हैं।

शाह ने कहा कि इस वर्ष के बजट में सड़क निर्माण के लिए 53,000 करोड़ रुपए प्रदान किए गए हैं। पांच वर्षों में, हमने असम में 20,000 किमी सड़कें और 6 पुल ब्रह्मपुत्र नदी पर बनाए हैं। हमने जोरहाट में एक राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान भी बनाया है।

शाह ने कहा कि हमने माजुरी में एक सांस्कृतिक विश्वविद्यालय बनाने का काम शुरू किया है। असम दर्शन योजना के तहत 38 मंदिरों और 17 नामघरों को उनके विकास के लिए 10 लाख रुपए प्रदान किए थे।