चंद्रप्रकाश कथूरिया
चंद्रप्रकाश कथूरिया

चंडीगढ़/दक्षिण भारत। महिला मित्र से मुलाकात के दौरान फ्लैट से गिरकर जख्मी हुए नेता चंद्रप्रकाश कथूरिया के खिलाफ भाजपा ने कड़ा रुख अपनाया है। उन्हें हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाषचंद्र बराला ने छह साल के लिए निष्कासित कर दिया। पार्टी ने कथूरिया को राज्य कार्यकारिणी समिति के विशेष आमंत्रित सदस्य के पद से भी निलंबित कर कड़ा संदेश दे दिया है।

उल्लेखनीय है कि रविवार को चंद्रप्रकाश कथूरिया का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया गया। इससे कथूरिया के साथ ही भाजपा की भी किरकिरी हुई। इसके बाद प्रदेश भाजपा ने उनके खिलाफ कार्रवाई का मन बना लिया और छह साल के लिए बाहर का रास्ता दिखा दिया।

कई नेताओं के खास
चंद्रप्रकाश कथूरिया सियासत में कई लोगों के करीबी रहे हैं। पहले, वे पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल के बहुत विश्वसनीय माने जाते थे। कथूरिया हरियाणा भाजपा के विशेष आमंत्रित सदस्य थे। इसके अलावा वे बतौर जिलाध्यक्ष करनाल भाजपा की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं।

.. तब किस्मत ने नहीं दिया साथ
यही नहीं, कथूरिया साल 2014 के हरियाणा विधानसभा चुनाव के समय भाजपा की ओर से टिकट के मजबूत दावेदारों में से थे। उस समय कथूरिया टिकट पाने से ​वंचित रहे और सीएम मनोहर लाल खट्टर से उनकी नाराजगी चर्चा में रही। हालांकि, बाद में खट्टर ने उन्हें शुगरफैड का चेयरमैन बनाया। लोकसभा चुनाव के दौरान कथूरिया का नाम टिकट के प्रबल दावेदारों में शामिल था, लेकिन किस्मत ने इस बार भी उनका साथ नहीं दिया।

फिसला पांव और आ गया ‘तूफान’
चंद्रप्रकाश कथूरिया चंडीगढ़ के सेक्टर 63 स्थित एक फ्लैट में अपनी महिला मित्र से मुलाकात करने गए थे। बताया गया कि अचानक किसी के डोर बेल बजाने से वे हड़बड़ा गए और चादर को रस्सी की तरह इस्तेमाल करते हुए बालकनी से नीचे उतरने की कोशिश करने लगे।

यह तरीका कामयाब नहीं हुआ और वे नीचे गिरकर घायल हो गए। उनके दाएं पांव की हड्डी फ्रैक्चर हो गई। वे उठने की कोशिश कर रहे थे लेकिन ऐसा कर नहीं पा रहे थे। बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। कथूरिया का वीडियो देखकर उनके विरोधियों को मौका मिल गया, वहीं भाजपा ने भी सख्ती दिखाते हुए उन्हें छह साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया।