बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमा
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमा

नबीनगर/भाषा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को विपक्ष पर निशाना साधते हुए उस पर वोटों के लिए समाज को बांटने तथा मौका मिलने पर जनता के बदले सिर्फ अपना हित साधने का आरोप लगाया। नीतीश कुमार ने औरंगाबाद के नबीनगर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि कुछ लोग वोटों के चक्कर में समाज को बांटने में लगे रहते हैं तथा उन्हें न तो काम का कोई अनुभव है और न ही उन्होंने कभी कोई काम किया है।

उन्होंने राजद प्रमुख लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए कहा, ‘पति-पत्नी ने 15 साल राज किया था, लेकिन उस दौरान क्या किया?’ राजद प्रमुख पर परोक्ष प्रहार करते हुए कुमार ने कहा, ‘अभी तो अंदर (जेल) ही हैं, और जो काम किया है, उसके कारण ही अंदर हैं… अभी और लोग अंदर जाएंगे।’ उन्होंने दावा किया कि उन लोगों ने सिर्फ अपने लिए काम किया जबकि हमारा उद्देश्य जनता की सेवा करना है।

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को जनादेश देने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अब बिहार पिछड़ा नहीं रहेगा बल्कि सक्षम, आत्मनिर्भर बनेगा और आगे बढ़ेगा।’ उन्होंने राज्य को तरक्की और विकास के मार्ग पर आगे बढ़ाने के लिए लोगों से फिर मौका देने की अपील की। कुमार ने कहा कि राज्य के साथ केंद्र सरकार ने भी कई योजनाओं के तहत मदद की है और हर वर्ग को लाभ पहुंचाया गया और सम्मान दिलवाया है। उन्होंने इस संदर्भ में आर्थिक आधार पर आरक्षण देने के कदम का भी जिक्र किया।

कुमार ने कहा कि पुरुष और महिलाएं मिल कर काम करेंगी तो विकास दोगुनी गति से होगा। उन्होंने कहा कि पहले कुछ ही महिलाएं पंचायती राज में आ पाती थीं, हमने आरक्षण दिया और अब काफी संख्या में महिलाएं आगे आ रही हैं। कुमार ने कहा कि अस्पतालों की स्थिति में सुधार करते हुए हमने इलाज का बेहतर प्रबंध किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, विकास जैसे हर क्षेत्र में काम किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमने अपराध को नियंत्रित किया है.. समाज सुधार का काम किया और महिलाओं के कहने पर शराबबंदी की।’ उन्होंने कहा कि जो युवा कंप्यूटर पर काम करना नहीं जानते थे, उनके लिए कुशल युवा कार्यक्रम की शुरुआत की और इसमें 10 लाख युवाओं ने प्रशिक्षण लिया। कुमार ने कहा, ‘हमारा निश्चय है कि हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचे। कहीं सूखा नहीं पड़ने देंगे। कृषि रोडमैप के माध्यम से काम कर ही रहे हैं, इसके साथ ही पशुओं के स्वास्थ्य के लिए भी व्यवस्था करेंगे।’