पीस पार्टी अध्यक्ष डॉ. अयूब
पीस पार्टी अध्यक्ष डॉ. अयूब

लखनऊ/दक्षिण भारत। धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोपी पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अयूब पर कानून का शिकंजा कसता जा रहा है। उनके खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की गई है। बता दें कि डॉ. अयूब पर भड़काऊ मजहबी पर्चे बांटने का गंभीर आरोप है, जिसके बाद प्रशासन ने उक्त कार्रवाई की है।

इस संबंध में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि डॉ. अयूब के खिलाफ कार्रवाई ‘धार्मिक भावनाएं भड़काने और कानून-व्यवस्था के लिए खतरा पैदा करने’ के कारण की गई है। इस सिलसिले में अयूब को एक अगस्त को गोरखपुर से गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने अयूब को उनके नर्सिंग होम से गिरफ्तार किया, जिसके बाद वे लखनऊ पुलिस के हवाले कर दिए गए। आरोपों के अनुसार, अयूब ने लखनऊ में भड़काऊ मजहबी पर्चे बांटे और विवादित विज्ञापन छपवाया।

पुलिस का कहना है कि अयूब द्वारा छपवाए गए पर्चे की सामग्री काफी भड़काऊ थी। इसके बाद उनके खिलाफ हज़रतगंज थाने में धारा 153(ए), 505(2) आईपीसी और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया।

यह भी बताया गया कि अयूब अपने एक मरीज का इलाज कर रहे थे, तब उन्हें यह कहकर बाहर बुलाया गया कि किसी अधिकारी की तबीयत खराब है। अयूब के बाहर आते ही उन्हें गिरफ्तार किया गया। माना जा रहा है कि एनएसए लगने से उनके लिए मुसीबतें बढ़ सकती हैं।