केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए।
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए।

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। जम्मू-कश्मीर जिला विकास परिषद चुनाव नतीजों से हर्षित भाजपा ने इसे अलगाववादियों, आतंकवादियों, चरमपंथियों और उनके संरक्षकों को लगाया गया ‘जोरदार तमाचा’ बताया है। पार्टी ने कहा है कि यह केंद्र शासित प्रदेश के भविष्य को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच की जीत है।

यहां भाजपा मुख्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई है। भाजपा को 74 सीटें मिली हैं, नेशनल कॉन्फ्रेंस को 67 सीटें, पीडीपी को 27 और कांग्रेस को 26 सीटें मिली हैं।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जो बार-बार गुपकार एलायंस की जीत को बताया जा रहा है, तो पहली बात यह जान लें कि वो एलायंस भाजपा से अकेले नहीं लड़ने की कमजोरी के कारण बना था।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जम्मू-कश्मीर डीडीसी चुनाव में भाजपा को इतने वोट मिले हैं जो एनसीपी, पीडीपी और कांग्रेस इन तीनों का वोट मिला दीजिए, तो भाजपा का वोट इनसे ज्यादा है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कश्मीर की जनता ने राज करने वालों और काम करने वालों के अंतर को पहचाना है। लोगों ने देखा है कि जम्हूरियत उनके दरवाजे पर विकास का दस्तक दे सकती है। लोगों की लोकतंत्र में आस्था पनपी है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भाजपा की जम्मू और कश्मीर में जीत बहुत ही उत्साहवर्धक है। यह भारत की विजय है, यह भारत के लोकतंत्र की विजय है, यह जम्मू-कश्मीर की जनता की विजय है, यह आशा और विकास की विजय है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की जनता ने अलगाववादियों पर बहुत बड़ा तमाचा लगाया है। कुलगाम में 78.9 प्रतिशत वोट पड़े, शोपियां में 70.5 प्रतिशत वोट पड़े। पुलवामा जहां पर जनता निकलती नहीं थी, वहां पर 7.4 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई। जहां 2018 के पंचायती चुनाव में 1.1 प्रतिशत वोट पड़े थे।