केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी

हैदराबाद/भाषा। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने शनिवार को यहां कहा कि देश में सभी राज्यों को कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए ‘दिल्ली मॉडल’ का अनुकरण करने की आवश्यकता है।

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘मैं राज्य सरकार (तेलंगाना) से जांच, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने और इलाज पर ध्यान केंद्रित करने का अनुरोध कर रहा हूं। तेलंगाना में जांच की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। जितनी अधिक संख्या में जांच होगी उतनी ही तेजी से यह बीमारी काबू में आएगी।’

उन्होंने कहा, ‘आप जानते हैं कि केंद्र शासित प्रदेश होने के नाते दिल्ली पर मैं निजी तौर पर नजर रख रहा हूं। दिल्ली में स्वस्थ होने की दर 84 फीसदी है। सभी राज्यों को दिल्ली मॉडल का अनुकरण करना चाहिए।’

केंद्रीय मंत्री ने तेलंगाना आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान का दौरा किया जिसे एक अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भविष्य में भी केंद्र सरकार तेलंगाना को पीपीई किट्स और वेंटीलेटर्स पर्याप्त संख्या में भेजेगी।

रेड्डी ने कहा, ‘राज्य सरकार को कोविड-19 के इलाज में लगे चिकित्सा पेशेवरों का ध्यान रखना चाहिए। सभी अस्पतालों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ऑक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त संख्या में उपलब्ध हो। केंद्र ने तेलंगाना को 1,200 वेंटीलेटर्स मुहैया कराए हैं। राज्य में एन-95 मास्क, पीपीई किट्स और एचसीक्यू गोलियां भी भेजी जा रही हैं।’

उन्होंने बिना लक्षण वाले मरीजों से घर पर पृथक-वास करने और बाहर न निकलने का अनुरोध किया ताकि यह बीमारी न फैले। केंद्रीय मंत्री ने लोगों को इलाज के लिए निजी अस्पतालों में भीड़ न लगाने और सरकारी सुविधाओं का लाभ उठाने की भी सलाह दी।